• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • In Cases Of Robbery, The Police Is Patting The Back Only To Catch The Conspirators And The People Doing The Recce, The Main Accused Out Of Custody

शहर में बढ़ता अपराध:लूट के मामलों में सिर्फ साजिशकर्ता और रेकी करने वालों को पकड़ पीठ थपथपा रही पुलिस, मुख्य आरोपी गिरफ्त से बाहर

जमशेदपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिस्तौल की नोंक पर लूट की कई घटनाओं को दिया अंजाम, गोली भी चली, लेकिन हथियार नहीं मिला
  • सिटी एसपी बोले- बिष्टुपुर में कलेक्शन एजेंट, दंपती और जुगसलाई में स्क्रैप कारोबारी के कर्मचारी से लूट में शामिल अन्य अपराधियों को भी गिरफ्तार करेंगे
  • जिला पुलिस का खोखला दावा- जल्द ही आरोपियों को किया जाएगा गिरफ्तार

शहर में इन दिनों लूट की घटनाएं रोजाना हो रही हैं। इन घटनाओं का पुलिस उद्भेदन तो कर देती है। लेकिन ज्यादातर मामलों में मुख्य आरोपियों (लुटेरों) तक नहीं पहुंच पाती है। सिर्फ रेकी करने वाले या साजिश रचने वालों को गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली है।

पुलिस अपराधियों की गिरफ्तारी जल्द करने का दावा जरूर करती है। लेकिन अब तक सफलता नहीं मिली है। कुछ मामलों में लूट के लिए अपराधियों ने पिस्तौल का सहारा लिया। पुलिस न तो लुटेरों को गिरफ्तार कर पाई व न ही घटना में प्रयुक्त हथियार बरामद कर पाई है। हालांकि कई लूट के मामलों में लुटेरों को भी पकड़ने में पुलिस को सफलता मिली है।

केस 1, बिष्टुपुर में 6 लाख लूट मामले में मुख्य आरोपी नहीं पकड़ाए

बिष्टुपुर थाना क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा के पास 23 फरवरी को कदमा के बुजुर्ग दंपती निर्मल कुमार डे व उनकी पत्नी से 6 लाख रुपए लूट मामले में लुटेरों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई है। पुलिस ने घटना के 6 दिन बाद बिहार के कटिहार के कोड़ा गिरोह के कोड़ा गांव निवासी पवन कुमार यादव व जसपुर (छत्तीसगढ़) की महिला को गिरफ्तार किया था। लूट के पैसे भी पुलिस ने आरोपियों के पास से बरामद किए थे। लूटकांड में 7-8 लोग थे। सिर्फ दो ही को पुलिस गिरफ्तार कर पाई है। मामले में मुख्य आरोपी अभी भी फरार है।

केस 2, कलेक्शन एजेंट से भी लूट के प्रयास के मुख्य आरोपी फरार

16 नवंबर को बिष्टुपुर थाना क्षेत्र संत मेरी स्कूल के पास कलेक्शन एजेंट जितेंद्र कुमार सिंह को पिस्तौल दिखा 8 लाख रुपए लुटेरों ने लूटने का प्रयास किया था। मामले के मुख्य दो आरोपी फरार हैं। लूट का विरोध करने पर अपराधियों ने कर्मी के पैर में गोली भी मारी थी। दो अपराधियों ने लूट की साजिश रची थी व घटना के दिन रेकी कर रहे थे। पश्चिम बंगाल के दो अपराधियों ने लूट का प्रयास किया था। विरोध करने पर गोली मारी थी। दोनों को पुलिस अब तक गिरफ्तार नहीं कर पाई है। न ही घटना में प्रयुक्त हथियार पुलिस को मिला है।

केस 3, जुगसलाई में स्क्रैप कारोबारी से लूट के दो आरोपी नहीं पकड़ाए

5 दिसंबर की शाम जुगसलाई राम टेकरी रोड स्थित कामसा स्टील कार्यालय के कर्मी से मारपीट के बाद पिस्तौल की नोंक पर 9.83 लाख रुपए लूटने के मुख्य आरोपियों को भी पुलिस अब तक पकड़ नहीं पाई है। साजिश रचने वाले कार्यालय के पूर्व कर्मी अभिषेक कुमार, रेकी करने वाले राकेश बहादुर व जीजा प्रितपाल सिंह को गिरफ्तार किया था। 80 हजार रुपए भी बरामद किया था। लूट की घटना को अंजाम देने वाले दोनों लुटेरों को पुलिस अब तक पकड़ नहीं पाई है। न ही हथियार बरामद कर पाई है।

अपराधियों को पकड़ने के लिए कर रहे छापेमारी : सिटी एसपी

कई मामलों में लुटेरों को पकड़ने में पुलिस को सफलता मिली है। बिष्टुपुर में कलेक्शन एजेंट, दंपती व जुगसलाई में स्क्रैप कारोबारी के कर्मी से लूट में शामिल अपराधियों को भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। तीनों मामलों में साजिशकर्ता और रेकी करने वालों की गिरफ्तारी पुलिस ने की है। लुटेरों को भी पकड़ने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। -सुभाष चंद्र जाट, सिटी एसपी​​​​​​​

खबरें और भी हैं...