बर्मामाइंस के लाखों सिंह हत्याकांड मामला:आईओ अजय की हुई गवाही, 26 अगस्त 2019 को लाखों की मां ने दर्ज किया था मामला

जमशेदपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बर्मामाइंस थाना क्षेत्र के कैरेज कॉलोनी बाबाकुटी के लाखों सिंह उर्फ लक्की सिंह हत्याकांड की सुनवाई एडीजे (4) राजेंद्र कुमार सिन्हा की अदालत में हुई। इसमें आईओ (एएसआई यातायात) अजय शंकर सिंह की गवाही हुई। आईओ ने कहा - घटना के वक्त मैं बर्मामाइंस थाना में एएसआई था। 26 अगस्त 2019 को लाखो की मां रानी कौर ने लिखित आवेदन दिया, कहा - बेटा लाखो 16 अगस्त की शाम से गायब है। बेटा रोज बाजार में राज, राजा व बसंत से मिलता था। घटना के दिन भी तीनों के साथ लाखो था। मोबाइल का कॉल डिटेल व टॉवर लोकेशन निकाला, फिर राज मजूमदार, राजा मजूमदार व वसंत उपाध्याय से पूछताछ की। मोबाइल लोकेशन से पता चला कि घटना के दिन रात 10 बजे वसंत का लोकेशन टाटानगर रेलवे स्टेशन स्थित सिंह होटल था।

इस बीच वसंत के मोबाइल पर लाखो की 37 बार बात हुई थी, जिसके बाद वसंत को गिरफ्तार किया। पूछताछ में वसंत ने कहा- मैं रौनक सिंह, मो. अफजल के साथ लाखो की हत्या करने जिलिंगगौड़ा चेक डैम पहुंचा। सिंह होटल से शराब लेकर डैम गया। तीनों बुलेट पर थे व मैं स्कूटी से पहुंचा था। मौका देख कर लाखो का शव डैम में फेंक दिया। लेकिन पुलिस को डैम से शव नहीं मिला। तब उन्होंने रौनक की गिरफ्तारी के लिए उसके पैतृक गांव पटना पहुंचे व उसे पकड़ा।

इसके बाद लाखो का शव डीवीसी मैदान के पास से बरामद किया। रौनक ने कहा- लाखो की हत्या वसंत ने किया था। पुलिस ने लाखो का मोबाइल कुआं से व शव को डीवीसी मैदान से बरामद किया। मो. अफजल की गिरफ्तारी की व अफजल के घर से हत्या में प्रयुक्त मोबाइल बरामद किया। मामले में 9 लोगों की गवाही हुई है।

खबरें और भी हैं...