नोटिस जारी:दलमा इको सेंसेटिव जोन में बने होटल-भवन को नोटिस

जमशेदपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

दलमा वन्य आश्रयणी के इको सेंसेटिव जोन में किए गए व्यासायिक निर्माणों को प्रदूषण नियंत्रण पर्षद ने नोटिस जारी किया है। ये निर्माण चांडिल वन क्षेत्र में किए गए हैं। वन विभाग ने इको सेंसेटिव जोन में हुए निर्माण की सूची प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को भेजी थी। इसमें कई निर्माण अवैध तरीके से किए गए हैं। जिनके कागजात सही होंगे, उनको एनओसी लेनी होगी। जिनके पास कागजात सही नहीं होगे, उनको आवेदन कर प्रक्रिया पूरी करनी होगी।

इको सेंसेटिव जोन में क्रशर और होटल के निर्माण से कई जगहों पर एलिफेंट कॉरिडोर में बाधा होने से हाथियों के हमले बढ़ रहे हैं। निर्माणकर्ताओं ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया तो वन अधिनियम की धारा 41 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

इनको जारी किया नोटिस

अमृत पाल सिंह होटल, दलमांचल होटल, तारापद पाल होटल, वारिद पाल होटल, गोल्डन लीफ होटल, बंगाली होटल, टाटा हाइवे होटल, भूतनाथ होटल, रंजन सिंह काला ईंट भट्ठा फैक्ट्री, जेके टायर सुपर सोनिक लॉजिस्टिक प्रालि, पंजाब होटल, द वेव इंटरनेशनल, एमबीएनएस इंस्टीट्यूट, हिल व्यू होटल एंड रिसॉर्ट, अशोक लीलैंड सर्विस सेंटर, बोन फैक्ट्री, दिग्विजय होटल, जगजीत होटल, मंजीत होटल, मनोज होटल, सिद्धि विनायक होटल, लक्ष्मी होटल, जगदीश प्रमाणिक होटल, रमेश होटल, मां शेरावाली होटल, सुमन होटल, एस. दयाल कंस्ट्रक्शन प्रालि, भोला सिंह का क्रशर, दीपक इंटरप्राइजेज, सिल्वर सैंड रिजॉर्ट, वरुण डे का क्रशर, सुधा होटल, शीतल छाया होटल, गैलेक्सी कंलि, आरईपीएल प्रा. इंड., रिवेरिया कंस्ट्रक्शन हाउसिंग एंड अपार्टमेंट, गिरधारी होटल, ओम मेटल इंडस्ट्रीज, क्रिस्टल थर्मोटिक प्रालि, पंसारी स्टील कंपनी समेत 20 ईंट भट्ठा, 15 क्रशर।

कागजात की जांच के बाद ही एनओसी

इको सेंसेटिव जोन में बने होटल-व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को नोटिस जारी किया है। उन्हें निर्माण से संबंधित जानकारी देनी होगी। जिनके कागजात सही है उनको एनओसी दी जाएगी। - जीतेंद्र कु. सिंह, क्षेत्रीय पदाधिकारी, प्रदूषण नियंत्रण पर्षद, जमशेदपुर

खबरें और भी हैं...