पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खबर बहुत जरूरी:चांडिल डैम में अब थर्मोकोल की जगह पत्तों की प्लेट का उपयोग

जमशेदपुर19 दिन पहलेलेखक: उपेंद्र प्रसाद महतो
  • कॉपी लिंक
हर साल इसी तरह पसरी रहती है गंदगी - Dainik Bhaskar
हर साल इसी तरह पसरी रहती है गंदगी
  • जल प्रदूषण कम करने और ग्रामीणों को रोजगार दिलाने के लिए चांडिल एसडीओ की तैयारी, दुकानदारों को दी हिदायत

आप चांडिल डैम में पिकनिक मनाने की सोच रहे हैं तो आपके लिए यह खबर बहुत जरूरी है। दो अक्टूबर से चांडिल डैम के आसपास थर्मोकोल व प्लास्टिक के प्लेट-कटोरी के इस्तेमाल पर चांडिल अनुमंडल प्रशासन रोक लगाने जा रहा है। अगर आपको वहां कुछ खाना है तो साल के पत्ते से बने प्लेट-कटोरी का इस्तेमाल करना होगा।

चांडिल अनुमंडल प्रशासन ने डैम व आसपास प्रदूषण को कम करने और स्थानीय लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए यह पहल की है। इस संबंध में चांडिल एसडीओ रंजीत लोहरा ने डैम के आसपास के दुकानदारों को हिदायत दे दी है। जल्द ही इस संबंध में आधिकारिक घोषणा की जाएगी।

पत्तों के प्लेट के उपयोग के ये फायदे
1. पर्यावरण को नुकसान नहीं

थर्माकोल-प्लास्टिक के प्लेट से पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है। डैम के समीप इनको डंप करने के लिए जगह की कमी है। वे जल्द सड़ते भी नहीं हैं, जबकि साल के पत्तों सड़ने के बाद खाद का काम करते हैं।

2. 76 फीसदी सस्ते पड़ते हैं पत्तों के प्लेट
थर्माकोल के एक प्लेट की कीमत करीब 1.25 रुपए पड़ती है, जबकि साल के पत्ते से बने प्लेट की लागत 30 पैसे होती है। ऐसे में पत्तों से बने प्लेट थर्मोकोल की तुलना में 76 फीसदी तक सस्ते पड़ते हैं।

3. स्वरोजगार से जुड़ सकेंगे ग्रामीण
जंगल किनारे बसे ग्रामीण पत्तों से प्लेट-दोना बनाकर चांडिल बाजार समिति को बेचेंगे। चांडिल बाजार समिति पत्ता और दोना खरीदेगी। इस तरह ग्रामीण स्वरोजगार से जुड़ेंगे।

थर्माेकोल का इस्तेमाल करते पकड़े गए तो होगी कार्रवाई
चांडिल डैम के सभी होटलों-ढाबों में सिर्फ पत्तों से बने प्लेट-दोने का उपयोग होगा। प्लास्टिक या थर्माकोल का उपयोग करते पाए गए तो प्रशासन सख्त कार्रवाई करेगा। चांडिल डैम से शुरुआत कर धीरे-धीरे पूरे अनुमंडल को प्लास्टिक और थर्माकोल मुक्त किया जाएगा। -रंजीत लोहरा, एसडीओ

खबरें और भी हैं...