काउंसिलिंग की प्रक्रिया:एनआईटी जमशेदपुर में 752 सीटों के लिए कल से ऑनलाइन काउंसिलिंग

जमशेदपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तैयारी पूरी, दिव्यांग छात्रों को कॉलेज में ही करना होगा रिपोर्ट

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) जमशेदपुर में नामांकन के लिए काउंसिलिंग की प्रक्रिया 20 अक्टूबर से शुरू होगी। दिव्यांग छात्रों को काउंसिलिंग के लिए रिपोर्ट करना होगा, ताकि उनका सत्यापन किया जा सके। अन्य छात्र ऑनलाइन रिपोर्ट करेंगे, उन्हें कैंपस में आने की जरूरत नहीं है। काउंसिलिंग की पूरी प्रक्रिया छह से सात राउंड में पूरी होगी। संस्थान ने पूरी तैयारी कर ली है।

एसोसिएट डीन आशिक हुसैन ने बताया कि एनआईटी जमशेदपुर में इस बार 752 सीटों के लिए छात्रों की काउंसिलिंग की जाएगी। इसमें 50 प्रतिशत सीटें झारखंड के छात्रों के लिए आरक्षित हैं। वहीं हर ट्रेड में अलग से छात्राओं के लिए भी आरक्षण है। ज्वाइंट सीट एलोकेशन अथॉरिटी (जोसा) की ओर से जेईई एडवांस का रिजल्ट जारी होते ही आईआईटी-एनआईटी समेत तमाम इंजीनियरिंग कॉलेजों में नामांकन के लिए रजिस्ट्रेशन व च्वाइस फिलिंग की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

जेईई मेन अथवा एडवांस में उत्तीर्ण हुए छात्र इसके तहत च्वाइस फिलिंग कर सकते हैं। एनआईटी जमशेदपुर में 19 अक्तूबर तक मॉक काउंसिलिंग की प्रक्रिया चलेगी। एनआईटी जमशेदपुर में कटऑफ की बात करें तो पिछले साल यहां 12995 रैंक (जनरल) तक के होम स्टेट के छात्रों को कंप्यूटर साइंस में नामांकन मिला था। वहीं अन्य कोर्स में यह 49 हजार रैंक तक गया था।

खबरें और भी हैं...