छठ की तैयारी शुरू:अर्घ्य देने में सिर्फ 3 दिन बाकी, प्रशासन का दावा है कि छठ से पहले दुरुस्त हो जाएगी घाटों की व्यवस्था

जमशेदपुर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुवर्णरेखा और खरकई नदी के घाटों पर गदंगी के साथ ही आने-जाने वाले मार्ग की हालत भी खराब

लाेक आस्था का महापर्व छठ की तैयारी शुरू हो गई है। बड़ी संख्या में व्रती शहर के विभिन्न घाटों पर 10 नवंबर को अस्ताचलगामी और 11 नवंबर को उदीयमान सूर्य को अर्ध्य देंगे। शहर के सुवर्णरेखा और खरकई नदी के 36 घाटों और आसपास के तालाबों में अर्ध्य दिया जाएगा। कुछ घाटों पर अब भी गंदगी का अंबार लगा हुआ है तो कुछ की सफाई हो रही है। लोग खुद से साफ-सफाई कर घाटों पर कब्जा कर रहे हैं।

झंडा और मेढ़ बनाकर घाट को घेर लिया जा रहा है। कुछ घाट ऐसे हैं जहां पहुंच पथ की स्थिति खराब होने से व्रतियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। किसी भी घाट पर चेंजिंग रूम अब तक नहीं बना है। प्रशासन का दावा है कि काली पूजा के विसर्जन के बाद घाटों की सफाई और चेंजिंग रूम बनाने का काम पूरा हो जाएगा। छठ व्रतियों को किसी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

यह बागबेड़ा का बड़ौदा घाट है। यहां अब तक सफाई शुरू नहीं हो पाई है। घाट पर विसर्जित की गई पूजा समाग्री व कचरे का ढेर है। चेंजिंग रूम व लाइट की व्यवस्था नहीं है।

सूर्य मंदिर घाट पर पड़ेगा अर्घ्य, इस बार भी सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं

सिदगोड़ा सूर्य मंदिर छठ घाट पर हर साल की तरह इस बार भी अर्घ्य देने श्रद्धालु पहुंचेंगे। लेकिन काेराेना के कारण इस बार भी परिसर में सांस्कृतिक संध्या का आयाेजन नहीं हाेगा। यह जानकारी मंदिर कमेटी (रघुवर दास खेमा) के अध्यक्ष संजीव सिंह व महामंत्री गुंजन यादव ने शनिवार काे प्रेसवार्ता में दी। बताया- मंदिर परिसर में 9 नवंबर को 500 गरीब व्रतियाें को पूजन सामग्री मुफ्त बांटी जाएगी। पहले अर्ध्य के दिन दोपहर 2 बजे से मंदिर के सभी द्वार व्रतियाें के लिए खोल दिए जाएंगे। तालाब की सफाई व पेंटिंग का काम चल रहा है। जुस्को काे तालाब में पानी भरने काे कहा गया है।

इधर, सरयू राय समर्थकाें की कमेटी करेगी अलग व्यवस्था

विधायक सरयू राय गुट वाली कमेटी की बैठक शनिवार की शाम सूर्य मंदिर परिसर मेंं हुई। इसमें छठ व्रतियाें में नि:शुल्क दूध, फूल, दातुन, आम की लकड़ी व अन्य पूजन सामग्री का वितरण करने का निर्णय लिया गया। अध्यक्ष चंद्रगुप्त सिंह ने बताया- मंदिर परिसर में व्रतियाें के लिए चेंजिंग रूम बनाया जाएगा। इसकी देखरेख की जिम्मेदारी कमेटी की महिला पदाधिकारियाें काे दी गई है। राेड से मंदिर तक रास्ते में लाइटिंग होगी। मंदिर के बाहर पार्किंग की व्यवस्था हाेगी।

खबरें और भी हैं...