पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विवाद:सीजीपीसी ऑफिस में मुखे और बिल्ला समर्थकों के बीच मारपीट, पुलिस के सामने लाठी और तलवार लहराते रहे दोनों पक्ष के लोग

जमशेदपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आधे घंटे तक पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाने के बाद मामला शांत कराया
  • घटना में मुखे गुट से अमरजीत सिंह अंबे व दूसरे पक्ष से गुरचरण सिंह बिल्ला को चोट आई

सीजीपीसी का पदभार संभालने के बाद गुरुवार सुबह दूसरी बार विरोध दर्ज करने पहुंचे बिल्ला समर्थकों और कार्यालय में मौजूद प्रधान मुखे व उनके समर्थकों के बीच हाथापाई हुई। तनाव देखते हुए साकची पुलिस पहुंची। पुलिस के सामने दोनों पक्ष के लाेग गाड़ियों से तलवार व लाठी लेकर एक-दूसरे को खदेड़ते रहे।

आधे घंटे तक पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाने के बाद मामला शांत कराया। घटना में मुखे गुट से अमरजीत सिंह अंबे व दूसरे पक्ष से गुरचरण सिंह बिल्ला को चोट आई है। बढ़ते तनाव को देख पुलिस ने दोनों पक्षों को भगाया। पुलिस ने बिल्ला व मुखे के आवेदन पर केस दर्ज कर लिया है।

बिल्ला गुट का आरोप, तख्त श्री पटना साहिब से राेक पर भी प्रधान पद पर काबिज हो गया मुखे

गुरुचरण सिंह बिल्ला के मुताबिक मुखे अपराधी चरित्र का है। फायरिंग की घटना के बाद तख्त श्री पटना साहिब से प्रधान की कुर्सी पर बैठने पर रोक लगाई गई है। इसके बावजूद वह जेल से निकलने के बाद प्रधान पद पर काबिज हो गया। दो दिनों पूर्व भी सीजीपीसी कार्यालय में धरना दिया गया था, पर प्रशासन ने कार्रवाई नहीं की। गुरुवार सुबह तय कार्यक्रम के तहत मंटू अग्रवाल को सीजीपीसी कार्यालय के समक्ष विरोध जताने के लिए टेंट लगाने को भेजे थे। वहां मुखे व अमरजीत सिंह अंबे और उनके समर्थकों ने टेंट लगाने गए मंटू को भगा दिया और मारपीट की।

मुखे का आरोप, सीजीपीसी दफ्तर के सामने टेंट लगाने से मना करने पर बिल्ला गुट ने की मारपीट

सीजीपीसी के प्रधान गुरमुख सिंह मुखे ने कहा- वे कार्यालय में बैठकर कोरोना काल में वैशाखी पर्व को शहर की गुरुद्वारा कमेटी किस तरह मनाएं, इसपर चर्चा कर रहे थे। तभी मंटू अग्रवाल, मनोज खत्री उर्फ गब्बर सिंह अपने समर्थकों के साथ कार्यालय के सामने आए और टेंट लगाने लगे। मना करने पर दोनों धमकाने लगे कि मैं कार्यालय के अंदर कैसे बैठा हूं। इसको लेकर कहासुनी हुई। टेंट को हटा दिया गया। कुछ देरी बाद गुरचरण सिंह बिल्ला अपने समर्थकों साथ पहुंचे। गाली-गलौज व हाथापाई के बाद मारपीट की। अमरजीत सिंह को हाथ में चोट आई है। पुलिस ने पहुंचकर मामला शांत कराया।

मैंने मुखे को सिरोपा भेंट नहीं किया बल्कि उसे पद से हटाने को कहा

मैंने समाज के लोगों को एकजुट होने की बात कही। लेकिन, मेरी बात को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है। मैंने मुखे को सिरोपा भेंट नहीं किया, बल्कि उसे पद से हटाने को कहा है। जबतक कोर्ट से वह निर्दोष साबित नहीं हो जाता।

-ज्ञानी रंजीत सिंह, जत्थेदार तख्त श्री पटना साहिब

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें