बेतुका बयान:ढोल बजा दुलाल ने सरकार पर साधा निशाना, बोले- टुसू पर पाबंदी लगा झारखंडियों का इतिहास नष्ट किया जा रहा

जमशेदपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • इधर, भोजपुरी नव चेतना मंच ने कहा- लोक आस्था पर दुलाल की दबंगई नहीं चलने देंगे

राज्य के पूर्व मंत्री व झामुमो नेता दुलाल भुइयां ने टुसू पर सरकार पर निशाना साधा है। अपने घर पर परिजनों व करीबियों के साथ ढोल बजाया। कहा - टुसू पर राज्य और केंद्र सरकार ने पाबंदी लगाई है। जबकि पर्व झारखंड से मूलवासी व आदिवासियों का सबसे महान पर्व है। राज्य और केंद्र सरकार ने पर्व पर ग्रहण लगाया है। छठ पर्व पर पाबंदी नहीं लगती है उस वक्त भी कोरोना पीक पर था। तब सरकार से आदेश ले आते हैं और नदी घाटों पर पर्व मनता है।

सरहुल, माघे, सोहराय, करमा, टुसू, मकर व मंगला पूजा जैसे पर्व भी नदियों से जुड़े हुए हैं। लेकिन इन अवसरों में नदी में गंदगी का अंबार छोड़ दिया जाता है। बिहारियों के लिए फाटक खोल दिया जाता है। प्रशासन से लेकर अफसर घाटों की सफाई में लगते हैं। अपनी सरकार होने के बाद भी टुसू पर कुछ नहीं होता है। झारखंडियों का इतिहास खत्म किया जा रहा है।

दलितों का भयादोहन कर दुलाल ने बटोरी सुर्खियां: अप्पू
भोजपुरी नव चेतना मंच के अध्यक्ष अप्पू तिवारी ने पूर्व मंत्री दुलाल भुइयां के लोक आस्था के महापर्व छठ पूजा पर अंगुली उठाने पर कड़ा एतराज जताया है। कहा - लोक आस्था पर दुलाल की दबंगई नहीं चलने देंगे। आदिवासी, मूलवासी व दलित-वंचित लोगों का भयादोहन कर सुर्खियां बटोरी है। उनके अधिकारों का हनन कर राजनीतिक प्रतिष्ठा पाई है।

खबरें और भी हैं...