सांसों का इंतजाम:राजस्थान सेवा सदन बनेगा कोविड अस्पताल, अभी 10 बेड हुए तैयार; जरूरत पड़ी तो 60 बेड तक बढ़ेगी सुविधा

जमशेदपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रबंधन अपने स्तर से डॉक्टर-पारा मेडिकल स्टाफ जुटाने में जुटा
  • एमजीएम अस्पताल में 5 वेंटिलेटर मशीन आई, मरीजों को मिलेगी सुविधा

जुगसलाई स्थित राजस्थान सेवा सदन को कोविड अस्पताल बनाया जाएगा। सरकार ने पिछले दिनों आदेश जारी कर निजी अस्पताल को कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में भागीदारी की बात कही थी। इसके बाद डीसी सूरज कुमार ने शहर के निजी अस्पताल प्रबंधन के साथ बैठक की थी। बैठक के दौरान डीसी ने राजस्थान सेवा सदन प्रबंधन के महासचिव राजेश रिंगसिया को कम से कम 10 ऑक्सीजन बेड की इंतजाम करने को कहा था। इसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने 10 ऑक्सीजन बेड का इंतजाम करने के बाद डीसी को जानकारी दी।

डीसी के आदेश पर एडीएम (लॉ एंड ऑर्डर) नंद किशोर लाल ने बुधवार को अस्पताल का निरीक्षण किया। राजेश रिंगसिया ने बताया- अस्पताल भवन की पहली मंजिल पर ऑक्सीजन-युक्त 30 बेड का इंतजाम किया जा रहा है, पर अस्पताल के पास डॉक्टर व पारा मेडिकल स्टाफ की कमी है। अस्पताल प्रबंधन अपने स्तर से डॉक्टर व पारा मेडिकल स्टाफ की व्यवस्था का प्रयास कर रहा है, पर अभी तक इसका नतीजा सामने नहीं आया है। प्रशासन की ओर से डॉक्टर व पारा मेडिकल स्टाफ का इंतजाम करने का भरोसा दिया गया है। फिलहाल पहली मंजिल पर तैयारी की जा रही है। बेड की मरम्मत व अन्य व्यवस्थाएं जुटाई जा रही है। अगर स्थिति भयावह हुई तो ग्राउंड फ्लोर पर भी 30 ऑक्सीजन युक्त बेड की व्यवस्था की जा सकती है। इस अस्पताल में आईसीयू व वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध नहीं हैं, पर ऑक्सीजन बेड की सुविधा है जिसे बढ़ाया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...