पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आसान होगा रेल सफर:कलाईकुंडा से झाड़ग्राम तक सेफ्टी अप्रूवल मिला, 515 में 340 किमी थर्ड लाइन पूरी; 100 किमी/घंटे की रफ्तार से दौड़ रहीं ट्रेनें

जमशेदपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 102 किलोमीटर 2022 में पूरा करने का है लक्ष्य
  • परियोजना के शेष कार्यों को पूरा करने के लिए 25 करोड़ आवंटित

दक्षिण-पूर्व रेलवे जोन के तहत हावड़ा से झाड़सुगुड़ा तक 515 किमी क्षेत्र आता है। जोन में थर्ड लाइन का काम चल रहा है। अब तक 340 किमी थर्ड लाइन का काम पूरा हो चुका है। थर्ड लाइन के निरीक्षण के क्रम में कमिश्नर ने 30 किमी थर्ड लाइन को सेफ्टी अप्रूवल दिया था। अब लाइन पर 100 केएमपीएच रफ्तार से ट्रेन चलेगी। वहीं जो लाइन चालू है वहां इस गति से ट्रेन चल रही है। इससे समय की बचत होगी।

दिसंबर 2022 तक कार्य पूरा करने का लक्ष्य 2022 तक रखा है। आदित्यपुर के बीच 132 किमी का काम तीव्रता से चल रहा है। कलाईकुंडा से झाड़ग्राम के बीच 30 किमी का काम पूरा हो चुका है। आदित्यपुर-खड़गपुर के बीच 102 किमी के बीच भी काम 80% पूरा हो चुका है। रेलवे विकास निगम लिमिटेड़ के डिप्टी जीएम ललितेश ने कहा- आदित्यपुर-खड़गपुर के बीच का काम 2022 तक पूरा होगा। थर्ड लाइन को 2015-16 में ही मंजूरी मिली थी। इसकी लागत 1212 करोड़ रुपए है। परियोजना में पश्चिम बंगाल में 55 किमी जबकि झारखंड में 77 किमी लंबी लाइन शामिल है। बजट 2021-22 के लिए परियोजना में शेष कार्यों के लिए 25 करोड़ रुपए राशि आवंटित की है।

राउरकेला से झाड़सुगड़ा तक 101 किमी पर चल रहा काम

राउरकेला से झाड़सुगुड़ा के बीच 101 किमी लंबी तीसरी लाइन परियोजना को 2015-16 में मंजूरी दी थी। परियोजना की अनुमानित लागत 1212.96 करोड़ रुपए थी। थर्ड लाइन ओडिशा से होकर गुजरती है। धुतरा से बामरा खंड़ के बीच 27.9 किमी लंबी परियोजना अगस्त 2020 में शुरू हुई थी। झाड़सुगुड़ा से धुतरा खंड की 8.8 किमी लंबी तीसरी लाइन का काम दिसंबर 2020 में शुरू हुआ है। 2021-22 के बजट में परियोजना के लिए 20 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की है।

रेल स्लीपर समय पर मिला तो काम होगा पूरा

थर्ड लाइन का काम युद्धस्तर पर चल रहा है। आदित्यपुर-खड़गपुर के बीच 102 किमी थर्ड लाइन में 80% काम पूरा हो चुका है। रेल स्लीपर लगातार सही समय पर मिला तो 2022 तक काम पूरा होगा।
-ललितेश कुमार, डिप्टी जीएम, रेलवे विकास निगम लिमिटेड

खबरें और भी हैं...