पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्मृतिशेष:एक्सएलआरआई में पढ़े और वहीं सबसे ज्यादा 16 वर्षाें तक निदेशक रहे, फादर ई अब्राहिम का भुवनेश्वर में निधन

जमशेदपुर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फादर ई इब्राहिम - Dainik Bhaskar
फादर ई इब्राहिम
  • आज आएगा फादर अब्राहिम का पार्थिव शरीर
  • जेसू भवन जेसुइट सेमेट्री में कल हाेगा अंतिम संस्कार

एक्सएलआरआई, जमशेदपुर के पूर्व निदेशक फादर ई अब्राहिम का बुधवार सुबह एक्सआईएम भुवनेश्वर में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वे 70 वर्ष के थे। एक्सएलआरआई​​​​​(पीजीडीपीएमआईआर-1978) के छात्र रहे फादर अब्राहम ने आगे चलकर एक्सएलआरआई में सबसे अधिक 16 वर्षाें तक बताैर निदेशक सेवा दी। वे संस्थान में 1989-94 और 2008-19 तक निदेशक रहे। इनके नेतृत्व में संस्थान ने कई उपलब्धियां हासिल कीं। हंसमुख मिजाज फादर अब्राहिम को सख्त प्रशासक के रूप में जाना जाता था।

उपलब्धियाें के लिए कई पुरस्काराें से नवाजे गए फादर ई अब्राहिम

फादर ई अब्राहिम कई संस्थानाें से जुड़े रहे। प्रबंधन शिक्षा में उत्कृष्ट याेगदान के लिए कई पुरस्काराें से नवाजे गए। अखिल भारतीय प्रबंधन संघ ने उन्हें प्रबंधन शिक्षा में अकादमिक नेतृत्व के लिए केवल नोहरिया पुरस्कार-2019 से सम्मानित किया। अस्मा वार्षिक सम्मेलन में अस्मा लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया। वे नेशनल एचआरडी नेटवर्क के संस्थापक-सचिव और इंडियन एसोसिएशन ऑफ ऑटोनाेमस बिजनेस स्कूलों के संस्थापक-अध्यक्ष थे।

इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ जेसुइट बिजनेस स्कूल्स और एसोसिएशन ऑफ एशिया पैसिफिक बिजनेस स्कूल बोर्ड में भी थे। एसोसिएशन ऑफ इंडियन मैनेजमेंट स्कूल्स के अध्यक्ष, आईआरएमए बोर्ड के सदस्य, राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड (एनबीए) के सदस्य और अखिल भारतीय प्रबंधन अध्ययन बोर्ड के सदस्य भी रहे। उन्हाेंने एक्सएलआरआई जमशेदपुर, सेंट जेवियर यूनिवर्सिटी कोलकाता, सेंट जेवियर यूनिवर्सिटी भुवनेश्वर और एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, मनीला जैसे कई भारतीय और विदेशी बिजनेस स्कूलों में बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के सदस्य के रूप में कार्य किया।

अंतिम दर्शन के लिए एक्सएलआरआई परिसर में रखा जाएगा पार्थिव शरीर

फादर ई अब्राहिम का पार्थिव शरीर भुवनेश्वर से गुरुवार की सुबह जमशेदपुर पहुंचेगा। पार्थिव शरीर काे अंतिम दर्शन के लिए एक्सएलआरआई परिसर में रखा जाएगा, जहां शिक्षक व साथी अंतिम विदाई देंगे। उनका अंतिम संस्कार जेसू भवन जेसुइट सेमेट्री में शुक्रवार को किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...