कोरोना संक्रमित:पिता कोरोना पाॅजिटिव हुए तो परिवार परेशान रहा, ऑनलाइन तैयारी की, तीसरे प्रयास में पाई सफलता

जमशेदपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
माता-पिता और बड़े भाई के साथ वैभव सेठ (मां के बगल में)। - Dainik Bhaskar
माता-पिता और बड़े भाई के साथ वैभव सेठ (मां के बगल में)।
  • तीसरे राउंड में जमशेदपुर के सेकेंड टॉपर रहे वैभव सेठ ने बताई अपनी कहानी

टाटानगर रेलवे इंजीनियरिंग विभाग में पदस्थापित रहे अभिमन्यु सेठ के दूसरे बेटे वैभव सेठ ने जेईई मेन के तीसरे चरण में सफलता पाई है। वैभव को 99.972 परसेंटाइल आया है। वैभव ने बताया- कोरोना के दौरान परीक्षा की तैयारी आँनलाइन ही हुई। इसी बीच पिता के कोरोना संक्रमित हो गए।

पिता होम आइसोलेशन में ही रहे, पर पूरा परिवार चिंतित रहा। इसका आंशिक असर पढ़ाई पर भी पड़ा। जेईई मेन के पहले चरण में उसे 99.938 और दूसरे चरण में 99.87 परसेंटाइल मिले थे। तीसरे चरण में 99.972 पर्सेंटाइल मिला।

बारहवीं की बोर्ड परीक्षा में 91.4 प्रतिशत अंक आए। वैभव का बड़ा भाई श्रेयस सेठ लोयोला स्कूल का टॉपर रहा था। अभी वह आईआईटी मुंबई में पढ़ाई कर रहा है। वैभव ने बताया- वह कंप्यूटर साइंस से इंजीनियरिंग करना चाहता है। फिलहाल पिता के तबादले के बाद वैभव का पूरा परिवार कोटा में है।

खबरें और भी हैं...