भास्कर खास:टाटा-बादामपहाड़ के बीच 107 किमी रेलमार्ग के दोहरीकरण पर ट्रैक्शन शुरू

जमशेदपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टाटा-बादामपहाड़ के बीच इस मार्ग पर दूसरी लाइन के लिए काम होगा। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
टाटा-बादामपहाड़ के बीच इस मार्ग पर दूसरी लाइन के लिए काम होगा। (फाइल फोटो)
  • दक्षिण-पूर्व जोन एवं चक्रधरपुर मंडल ने टाटा-बादामपहाड़ लाइन को तीन वर्षीय विकास योजना में किया शामिल

टाटानगर-बादामपहाड़ रेलमार्ग का दोहरीकरण योजना पर तेजी से काम हो रहा है। टाटा-बादामपहाड़ के बीच बीच 107 किलोमीटर लंबी रेल लाइन के दोहरीकरण योजना को जमीनी तौर पर लागू करने के लिए दक्षिण-पूर्व जोन एवं चक्रधरपुर मंडल ने तीन वर्षीय विकास योजना में इसे शामिल कर लिया है।

रेलवे ने इस दिशा में ट्रैक्शन और सिग्नलिंग का काम भी शुरू कर दिया है। वर्तमान में इस रेलमार्ग पर महज एक मेमू चलती है। इसके अलावा मालगाड़ियों का परिचालन होता है।

2017 में ही लोकसभा में उठाई गई थी इस योजना की मांग

ओडिशा के शहरों से दूरी कम होगी
रेलवे प्रबंधन राजस्व बढ़ाने के दृष्टिकोण से बादामपहाड़ को ओडिशा के क्योंझर व बांगड़ीपोसी से जोड़ने पर विचार कर रहा है। ऐसा होने से टाटानगर से ओडिशा के विभिन्न शहरों की दूरी कम हो जाएगी।

बादामपहाड़ व गुरुमहिसानी को चक्रधरपुर मंडल के बांसपानी, नयागढ़ व बरसुन से जोड़ने की भी योजना है। सांसद विद्युतवरण महतो 2017 में टाटा-बादामपहाड़ रेलमार्ग पर डबल लाइन करने का मुद्दा लोकसभा में उठा चुके हैं।

2019 में दक्षिण पूर्व रेलवे जोन ने इसके बाद सर्वे कराया था। झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने चक्रधरपुर डीआरएम विजय कुमार साहू के समक्ष टाटा-बादामपहाड़ डबल लाइन का प्रस्ताव रखा था, जिसमें विभागीय कार्य शुरू हो गया।

स्टील प्लांट लगने से पूर्व की है तैयारी
चक्रधरपुर मंडल के आमलाजोड़ी और विमलगढ़ स्टेशन के पास दो स्टील प्लांट लगने वाले हैं। इससे रेलवे मालगाड़ियों को बेहतर परिचालन के लिए दोहरीकरण की योजना पर काम कर रहा है। बादामपहाड़ और गुरुमहिसानी को बांसपानी, नयागढ़ व अन्य सेक्शन से जोड़ने पर मालगाड़ियों को चलाने में सहूलियत होगी।

खबरें और भी हैं...