पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घटना को अंजाम:सरकारी जमीन पर कब्जा करने के विवाद में विहिप नेता काे मारी थी गोली, पांच गिरफ्तार

जमशेदपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बिष्टुपुर थाना में मामले का खुलासा करते सिटी एसपी सुभाषचंद्र जाट व अन्य। - Dainik Bhaskar
बिष्टुपुर थाना में मामले का खुलासा करते सिटी एसपी सुभाषचंद्र जाट व अन्य।
  • गोलीबारी में शामिल शराब कारोबारी दोनों भाई संजीत-अजीत फरार
  • घटना से एक दिन पहले रनिंग रूम के पास दोनों गुट के बीच हुई थी मारपीट

बागबेड़ा कीताडीह मुख्य मार्ग रनिंग रूम के सामने ट्रैफिक कॉलोनी में 9 सितंबर को विहिप के बागबेड़ा मंडल अध्यक्ष बबलू सिंह पर हुई फायरिंग मामले में पांच अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। संजयनगर में सरकारी जमीन कर कब्जा करने को लेकर घटना को अंजाम दिया गया। पुलिस ने संजयनगर, रामनगर और गांधीनगर में संजीत-अजीत द्वारा कब्जा कर बनाई गई पांच झोपड़ी को भी तोड़ दिया।

गिरफ्तार अपराधियों में संजय नगर का पप्पू घोष (19), गांधीनगर का विशाल कुमार उर्फ लड्डू (18), बागबेड़ा रेलवे ट्रैफिक कॉलोनी का राहुल राजभर (19), डिमना रोड का कर्मदेव शर्मा (23) और बर्मामाइंस के कैरेज कॉलोनी निवासी बसंत उपाध्याय उर्फ डेफिनेट (23) को शामिल है। अपराधियों के पास से पुलिस ने एक पिस्तौल और 3 गोली भी बरामद की है। मुख्य आरोपी शराब माफिया दोनों भाई अजीत-संजीत अभी फरार हैं।

दोनों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है। यह जानकारी सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट ने रविवार को बिष्टुपुर थाना के मल्टीपर्पज हॉल में प्रेसवार्ता में दी। मौके पर बागबेड़ा थाना प्रभारी राजेश प्रसाद सिंह, बिष्टुपुर थाना प्रभारी विष्णु प्रसाद राउत और मानगो थाना प्रभारी विनय कुमार मौजूद थे। ज्ञात हो कि 9 सितंबर को अपराधियों ने बबलू सिंह पर फायरिंग की थी। बबलू सिंह को 5 गोली लगी थी। टीएमएच में अभी वह इलाजरत है।

सिटी एसपी ने बताया-रनिंग रूम के पास ही एक सरकारी जमीन पर कब्जे को लेकर बबलू सिंह व संजीत के बीच काफी दिनों से विवाद चल रहा है। दोनों उक्त जगह पर कब्जा जमाना चाहते हैं। घटना के एक दिन पहले भी दोनों के बीच मारपीट हुई थी। घटना के दिन भी दोनों गुट के बीच विवाद होने की सूचना पुलिस को मिली थी।

पुलिस जब तक पहुंचती तब तक बबलू सिंह पर फायरिंग कर दी गई थी। अपराधी मौके से भाग निकले थे। घटना में शामिल गुप्तेश्वर गिरी उर्फ लेधा का इलाज पुलिस अभिरक्षा में एमजीएम में चल रहा है। घटनास्थल से राहुल पकड़ाया था। गिरफ्तार पांचों सभी घटनास्थल पर निगरानी कर रहे थे। जबकि गोली मारने वालों में लेधा, संजीत, अजीत अौर एक साथी और था। राहुल की निशानदेही पर हथियार बरामद हुआ है।

खबरें और भी हैं...