पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • Worshiping The Girl On Mahashtami, Charan Does Not Fall On The Ground, So The Devotees Came To Pick Up The Girl In Her Lap, Offered Aarti And Fed It

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इधर, टूटी परंपरा...:महाअष्टमी पर कन्या पूजन, चरण जमीन पर न पड़े इसलिए भक्त कन्या को गोद में उठाकर आए, आरती उतार खिलाया भोग

जमशेदपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीतारामडेरा के आध्या पीठ मंदिर में महाअष्टमी पर शनिवार को कन्या पूजा हुई। इसके लिए पांच साल की बच्ची को देवी का रूप दिया। देवी का चरण जमीन पर न पड़े इसलिए भक्त कन्या को गोद में लेकर पहुंचे। मंदिर प्रांगण पहुंचते ही मां के जयकारे लगे। कन्या रूपी देवी जहां से आ रही थी आगे-आगे महिलाएं जल से जमीन को शुद्ध करने के लिए आम के पत्ते से पानी छिड़क रही थीं। देवी को मां दुर्गा के पास आसन पर बैठाया। भक्तों ने चरण पखारे, आरती उतारी, भोग लगाया और पूजन कर आशीर्वाद लिया। कन्या देवी ने सभी को खुश रहने का आशीष दिया। मंदिर में हर वर्ष महाअष्टमी पर कुंवारी पूजा की जाती है। रघुवर दास भी यहीं कन्या पूजन करते हैं।

बेल्डीह कालीबाड़ी में 58 आरके मिशन में 66 साल बाद नहीं पूजी गई कन्या

1954 से बिष्टुपुर रामकृष्ण मिशन विवेकानंद सोसाइटी में कन्या पूजन होता है, लेकिन इसबार नहीं हुआ। सचिव अमृत रूपनंद ने कहा- इस बार सोसाइटी के पुरोहित ने सिर्फ देवी की पूजा की। यहां कन्या पूजन के लिए कन्या का चुनाव होता है। दूसरी ओर बेल्डीह कालीबाड़ी में भी कन्या पूजा नहीं हुई। यहां 1962 से पूजा हो रही है। मंदिर के प्रमुख मोनू भट्टाचार्य ने कहा- महानवमी पर 10 साल से छोटी बच्ची का पूजन होता है, लेकिन संक्रमण को देख इस बार यह आयोजन नहीं होगा।

कई स्थानों पर आज पूजा

पारडीह काली मंदिर में 51 की जगह सिर्फ नौ कन्याओं की पूजा-अर्चना

दुर्गोत्सव में शनिवार को महाष्टमी पूजन व हवन हुआ। कई स्थानों पर जगत जननी का अंश मानकर भक्तों ने कन्या का पूजन की। सीतारामडेरा आध्या मंदिर, पारडीह काली मंदिर आदि स्थानों पर विधि विधान के साथ कन्या पूजा की गई। कोरोना के चलते पारडीह काली मंदिर में 51 की जगह नौ कन्या की पूजा हुई। भालूबासा शीतला माता मंदिर, बिष्टुपुर स्थित परमहंस लक्ष्मीनाथ गोस्वामी मंदिर, साकची शीतला माता मंदिर में रविवार को महानवमी पर कन्या पूजन हाेगा।

बेटियां अभिशाप नहीं वरदान हैं का संदेश

मारवाड़ी युवा मंच स्टील सिटी सुरभि शाखा ने महाअष्टमी पर साकची मनोकामना मंदिर, बिष्टुपुर काली बाड़ी व रिफ्यूजी कॉलोनी में देवी स्वरूप कन्याओं का पूजन कराया। बबिता रिंगसिया ने कहा- बेटियां अभिशाप नहीं वरदान हैं। यही संदेश हमने दिया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें