5 घंटे तक हाइवे किया जाम:टाेचन कर ले जाए जा रहे वाहन से बाइक सवार टकराए, एक की मौत

मुरलीपहाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नारायणपुर थाना क्षेत्र के जुम्मनमोड़ के पास रविवार को हुई एक सड़क दुर्घटना में एक बाइक और एक बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार 22 वर्षीय युवक की मौत हो गई है। वहीं इसी बाइक पर पीछे बैठे एक अन्य युवक को गंभीर चोट लगी है। मृतक की पहचान इसी थाना क्षेत्र के ईरकीया गांव निवासी मो जाकिर अंसारी पिता यूसुफ अंसारी के रूप में हुई है। जबकि इस घटना में घायल युवक सौकिम अंसारी (16) को गंभीर चोटें आई है। जिसका इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नारायणपुर में किया जा रहा है।

घटना दिन के 12 बजे के आसपास की बताई जा रही है। घटना के बारे में बताया जा रहा है कि देवघर जिले के सारठ से एक खराब कार जेएच 10 एके 0603 को लेकर एक भाड़े के बोलेरो जेएच 15 एन 1819 के साथ रस्सी से टोचन कर धनबाद जिले के निरसा ले जाया जा रहा था। उसी समय जेएच 21 एम 2522 पर बाइक पर सवार दो युवक इरकिया से दीघारी गांव की तरफ जा रहे थे। तभी ऐन वक्त पर बोलेरो चालक ने ब्रेक लगाया और टोचन से जा रही कार की रस्सी के टूट जाने से उसकी दिशा बदल गयी।

जिससे वाहन और बाइक में जबर्दस्त टक्कर हो गया। घटना के बाद आक्रोशित परिजन एवं ग्रामीणों ने गोविंदपुर साहेबगंज राज्य पथ को जाम कर दिया एवं मृतक के आश्रितों को उचित मुआवजा राशि दिलाने की मांग पर अडिग है। ग्रामीणों ने कार चालक एवं बोलेरो चालक को बंधक बनाकर रखा हुआ है।

स्थानीय पुलिस के द्वारा बताया जा रहा है की कार में कुछ महिलाएं भी सवार थी। जिन्हें सुरक्षित तरीके से भीड़ से अलग हटाकर उनके घर भेज दिया गया है। घटना के बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस भी भीड़ के आगे काफी देर तक शव को उठाने की मशक्कत करती रही किन्तु बार बार हो रहे जोरदार हंगामे कारण शव को उठने नही दिया गया। समाचार प्रेषण तक हंगामा चल ही रहा था। लोग उग्र होकर हंगामे करते रहे दूसरी तरफ पुलिस को अतिरिक्त फोर्स बुलाना पड़ा है।

एक किमी तक लगी वाहनों की कतार

घटना के बाद गोबिंदपुर साहेबगंज हाई वे पर करीब 1 किलोमीटर तक वाहनों को लम्बी लाइन लगी रही कुछ एक गाड़िया अपना रूट को बदल कर जाते देखा गया। आक्रोशित ग्रामीण जान के बदले जान लेने के इरादे से कई बार नोक झोंक होता रहा जिसे प्रशासन ने बड़ी ही मुश्किल से इस हालात को संभाला।

मुआवजा के बाद भी नहीं माने लाेग

मृत युवक के परिजन और लड़के के ससुराल पक्ष के लोग दोनों ही अपनी अपनी मांगों की बात कर रहे थे। जिसमे लड़की पक्ष के लोग अपनी बेटी के भविष्य की बात कर रहे है तो दूसरी तरफ परिजन अपने बेटे को खोने के गम में बात पक्षकारों पर छोड़ रखा था। जबकि ऐसी हालत में कार के मालिक 50 हजार देने पर राजी हुए किन्तु युवक की मौत हो जाने से बात बनती बिगड़ती रही।

युवक की तीन माह पूर्व हुई थी शादी

ग्रामीण महिलाओं ने बताया कि युवक की शादी दीघारी गांव की लड़की के साथ 3 महीने पूर्व में हुई है। इसके पति की मौत हो जाने बाद लड़के के घर और उसकी पत्नी दोनों का।सहारा छीन गया है । ऐसे में सभी को हमदर्दी और रुपये पैसे की जरूरत है। क्योंकि यही लड़का एक कमाने वाला था जिससे परिवार चलता था। नारायणपुर सीओ प्रदीप कुमार महतो, थाना प्रभारी अभय कुमार, एसआई इंद्रजीत पाठक, राजेश्वर कुमार एवं पुलिस के जवान तैनात थे।

खबरें और भी हैं...