छापेमारी:विधायक इरफान अंसारी के जामताड़ा आवास पर बंगाल सीआईडी की टीम ने की छापेमारी

जामताड़ा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कैश कांड में 49 लाख रुपए के साथ गिरफ्तार कांग्रेस विधायक डॉ इरफान अंसारी की मुश्किलें बढ़ने लगी है। सोमवार को पश्चिम बंगाल के हावड़ा सीआईडी की टीम ने जामताड़ा कोर्ट रोड स्थित जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी के आवास पर छापेमारी की। स्थानीय पुलिस के सहयोग से विधायक आवास पर छापेमारी की गई। इस दौरान उनके आवास को पुलिस छावनी में तब्दील कर दी गई।

आवास के अंदर और बाहर भारी संख्या में पुलिस मौजूद थे। लगभग 12:30 बजे बंगाल सीआईडी की टीम स्थानीय पुलिस के साथ जामताड़ा विधायक के आवास पहुंची और जांच की कार्रवाई शुरू की। लगभग 3 बजे सीआईडी की छापेमारी समाप्त हुई है। सीआईडी के स्पेक्टर रैंक के अधिकारी ने बताया कि कैश कांड मामले की जांच करने जामताड़ा पहुंचे। इन्वेस्टिगेशन जारी है।इसके अलावा टीम कुछ भी बताने से इनकार किया। निकलते समय टीम ने मौजूद जामताड़ा पुलिस कर्मी से मधुपुर रूट की जानकारी ली और रवाना हो गया। ज्ञात हो कि जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी का मुख्य आवास देवघर जिला स्थित मधुपुर में है।

कांग्रेसियाें काे फटकने तक नहीं दिया
छापेमारी की खबर जिला में आग की तरह फैल गई। यह सूचना मिलते ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं में खलबली मच गई। कार्यकर्ता विधायक आवास की तरफ दौड़ना शुरू किए। लेकिन पुलिस बल की व्यवस्था को देखते हुए आवास की ओर आने का हिम्मत नहीं जुटा पा रहे थे। कुछ एक कार्यकर्ता मीडिया कर्मियों को देखकर हिम्मत जुटाई और किसी प्रकार आवास तक पहुंचे, लेकिन बैरंग वापस लौट गए। जामताड़ा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी आनंद ज्योति मिंज ने बताया कि उन्हें इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है।

चार सदस्यीय टीम ने की छापामारी
जामताड़ा विधायक डॉक्टर इरफान अंसारी के आवास पर बंगाल सीआईडी की 4 सदस्य टीम ने छापेमारी की। गौरतलब है कि बीते 30 जुलाई को हावड़ा ग्रामीण एसपी स्वाति की अगुवाई में पांचला थाना क्षेत्र अंतर्गत रानीहाट मोड़ के पास काले रंग की एसयूवी में सवार जामताड़ा विधायक डॉक्टर इरफान अंसारी, खिजरी विधायक राजेश कश्यप और कोलेबिरा विधायक नमन विक्सल कोंगाडी को हिरासत में लिया था। उनके पास से पुलिस ने करीब 49 लाख रुपये की भारी-भरकम कैश बरामद की थी। तीनों विधायक ने दलील दी थी कि वे आदिवासी दिवस को लेकर साड़ी खरीदने कोलकाता जा रहे है लेकिन पूछताछ में वे पैसों का कोई ठोस स्राेत बता पाने में नाकाम रहे तकरीबन 16 घंटे की पूछताछ के बाद 31 जुलाई को तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया था।

मधुपुर छाेड़ जामताड़ा में छापामारी किसी के गले नहीं उतरी
सीआईडी की टीम ने जिस वक्त विधायक आवास में छापामारी किया इस दौरान आवास में सिर्फ एक आवासीय कर्मी एवं विधायक आवास के कंस्ट्रक्शन काम में लगे मजदूर मौजूद थे। सबसे बड़ी बात यह है कि जामताड़ा कोर्ट रोड में विधायक डॉक्टर इरफान अंसारी का घर है मगर वे कभी-कभार ही यहां आते जाते हैं जबकि इनका पूरा परिवार और आवास मुख्य रूप से मधुपुर देवघर जिला में है। ऐसे में सीआईडी टीम द्वारा जामताड़ा में छापामारी किया जाना विपक्षियों को पच नहीं रहा है। विपक्षी दलों का कहना है कि सीआईडी टीम को विधायक के मधुपुर आवास में सबसे पहले छापामारी करना चाहिए था।

खबरें और भी हैं...