गर्मी के तेवर कम पड़े:31 मई तक रोज हल्की बारिश की आस, अगले 48 घंटों में बंगाल की खाड़ी में पहुंच रहा मानसून

जामताड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बुधवार को जामताड़ा में मौसम के तेवर ठंड पड़ गए। सुबह से ही क्षेत्र में भीषण गर्मी के बात दोपहर तेज हवा के साथ बूंदाबांदी बारिश का असर यह हुआ कि दिन का तापमान 5 डिग्री लुढ़क कर कर 36 डिग्री पर पहुंच गया। इस गर्मी में क्षेत्र में ऐसी तपती थी कि पारा 42 डिग्री पहुंच गया था। गर्मी के लंबे दौर के बाद जामताड़ा में पारा 36 डिग्री से नीचे पहुंचा है।

इस भीषण गर्मी में क्षेत्र में पारा लगातार बढ़ता ही जा रहा था जिससे मनुष्य के साथ-साथ पशु-पक्षी भी परेशान हो गए थे। इलाके में जमकर बारिश होने से कच्ची सड़कें कीचड़ माय हो गए। कच्ची सड़कों में नदी सा पानी जम गया। हालांकि जिले नहीं जान सहित क्षेत्र में बारिश नहीं हुई मगर तेज हवा और बादल छाए रहे।

मानसून के आगमन की बन रही बेहतर स्थिति

जिले में मानसून जून के दूसरे सप्ताह में पहुंचने की संभावना है। इससे पहले प्री मानसून रेन 31 तक जारी रहेगी। इससे मौसम सुहावना बना रहेगा। इसके साथ ही न्यूनतम व अधिकतम तापमान में कोई खास बदलाव होने की संभावना नहीं है।

मौसम विभाग के अनुसार उत्तर दक्षिण पश्चिमी विक्षोभ के नम हवाओं का एक टर्फ लाइन दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश से होते हुए पूर्वी बिहार व झारखंड से गुजर रहा है। इसके कारण जिले में मौसम बेहतर बना हुआ है। इस मौसम का फायदा उठाकर किसान अपने खेतों की जुताई कर सकते हैं।

उमस से नहीं मिलेगा छुटकारा

मौसम विभाग के अनुसार अगले एक सप्ताह तक लोगों को उमस का सामना करते रहना पड़ेगा। हल्की बारिश के बाद धूप होने के कारण उमस बढ़ेगी। जिले में आद्रता का स्तर 89 प्रतिशत तक पहुंच सकता है। वहीं अधिकतम तापमान 35 डिग्री व न्यूनतम तापमान 24 डिग्री के आसपास रहने की संभावना है।

गौरतलब है कि बीते लगभग 2 महीने से जामताड़ा के लोग भीषण गर्मी की चपेट में थे। दोपहर रफ्तार से धूल भरी आंधी चली कई इलाकों में सुरक्षा की दृष्टि से बिजली आपूर्ति ठप हो गई थी। दोपहर के बाद से जिले के कई इलाके में बादल छाए रहे जमकर बारिश हुई।

खबरें और भी हैं...