पंचायत चुनाव:धूप व ऊमस भरी गर्मी में भी कम नहीं हुआ समर्थकों का उत्साह

जामताड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विजेता मुखिया को प्रमाण पत्र देते पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
विजेता मुखिया को प्रमाण पत्र देते पदाधिकारी।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दूसरे चरण की मतगणना मंगलवार को अंतिम दिन दुलाडीह स्थित नर्सिंग कॉलेज में सुबह आठ बजे शुरू हुई। सुबह छह बजे से मतदान केंद्र पर प्रत्याशियों, एजेंटों, समर्थकों, मतगणना कर्मियों, पुलिसकर्मियों व पदाधिकारियों का पहुंचना शुरू हो गया। पुलिसकर्मी प्रत्याशी व उनके एजेंट की जांच-पड़ताल के बाद अंदर जाने दे रहे थे।

उपायुक्त फैज अक अहमद मुमताज भी यहां सुबह में ही पहुंच गए थे। सुबह आठ बजे मतगणना शुरू हुई। धीरे-धीरे मतगणना केंद्र के बाहर विभिन्न प्रत्याशियों के समर्थकों की भीड़ भी जुटने लगी। तेज धूप तथा उमस भरी गर्मी भी समर्थकों का उत्साह कम नहीं हो पा रहा था।

सभी समर्थक अपने प्रत्याशियों की जीत की सूचना लेने के लिए बेताब थे। भीषण गर्मी की वजह से लोगों का गला सूखने लगा। मतगणना केंद्र के बाहर पानी नहीं मिलने कारण लोग इधर उधर भटक रहे थे।

तकरीबन 10 बजे के आसपास प्रत्याशियों का रिजल्ट आना शुरू हो गया इसके बाद विजेता प्रत्याशी के समर्थक जिंदाबाद का नारा लगाने लगे। हारने वाले प्रत्याशियों के समर्थक मायूस नजर आ रहे थे। मौके पर जीते हुए प्रत्याशियों के समर्थकों में काफी उत्साह देखा जा रहा था।

तीसरी बार एक ही परिवार से चुना गया मुखिया
नावाडीह पंचायत से लगातार तीसरी बार एक ही परिवार का सदस्य मुखिया चुना गया। वर्ष 2010 में यह पंचायत मुखिया पद के लिए महिला के लिए आरक्षित था पहले से मुखिया बनने का सपना संजोये स्थानीय गुल मोहम्मद उर्फ सज्जाद ने महिला सीट होने पर अपनी पत्नी पाकीजा खातून को प्रत्याशी बनाया जहां जीत हासिल हुई थी।

उसके बाद वर्ष 2015 में यह सीट पुरुष हो जाने पर गुल मोहम्मद उर्फ सज्जाद खुद चुनाव मैदान में उतरे और कामयाबी हासिल कर शानदार तरीके से जीत दर्ज कर मुखिया बने वहीं इस बार वर्ष 2022 के चुनाव में नावाडीह पंचायत का सीट फिर से महिला के लिए आरक्षित है जिस कारण उन्होंने दूसरी बार फिर अपनी पत्नी पाकीजा खातून को मुखिया प्रत्याशी बनाया।

खबरें और भी हैं...