पुरस्कार जीतकर लातेहार का नाम रोशन किया:जिले की दृष्टि बाधित निशि रानी को राज्यस्तरीय कला उत्सव में मिला तृतीय पुरस्कार, कहा- बचपन से ही गाने का था शौक

लातेहार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले की दृष्टि बाधित निशि रानी को राज्यस्तरीय कला उत्सव में तृतीय पुरस्कार मिला है। राज्य स्तरीय कला उत्सव का आयोजन रांची में किया गया था। इसमें निशि रानी ने लोकगीत श्रेणी में तृतीय पुरस्कार जीतकर लातेहार का नाम रोशन किया है।

निशि ने लोकगीत श्रेणी में आधुनिक नागपुरी लोक गीत गाया था। बता दें कि निशि रानी ने पूर्व में जिला स्तरीय प्रतियोगिता के शास्त्रीय संगीत व लोकगीत में प्रथम पुरस्कार जीता था। इसके बाद निशि ने लातेहार जिला का प्रतिनिधित्व राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में किया। निशि रानी पलामू प्रमंडल में एक उभरता हुआ चेहरा है।

उसने अपने प्रतिभाओं से लोगों को काफी प्रभावित किया है। निशि रानी ने सबसे पहले कला एवं संस्कृति विभाग के द्वारा आयोजित सुबह सबेरे कार्यक्रम में ऐ मेरे वतन के लोगों गीत गाया था। जो लोगों के दिल को छू गई थी। उसके बाद निशि ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा। स्वर संगम म्यूजिकल ग्रुप एवं डिसएबल्ड प्रमोशन सोसायटी, लातेहार के बैनर तले गणतंत्र दिवस व स्वतंत्रता दिवस के अलावा अन्य अवसरों में स्टेज में अपनी प्रस्तुति दी है।

स्वर संगम के निदेशक आशीष टैगोर ने बताया कि बीते 15 नवंबर को बिरसा मुंडा जयंती एवं झारखंड स्थापना दिवस पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में उपायुक्त भोर सिंह यादव ने निशि को विशेष पुरस्कार दिया था। इससे पहले स्थानीय विधायक वैद्यनाथ राम ने भी उसकी काफी प्रशंसा कर उसे नगद पुरस्कार दे कर उसका हौसला अफजाई किया था।

निशि के पिता जीतेंद्र प्रसाद एवं माता सुनीता देवी ने बताया कि निशि को बचपन से ही गाने का शौक है और उसका सपना एक प्ले बैक सिंगर बनने का है। इसी वर्ष निशि ने राजकीय बालिका उच्च विद्यालय से मैट्रिक की परीक्षा दी थी और प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण हुई थी। निशि ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता पिता व भाई के अलावा अपने गुरुजनों को दिया है।

खबरें और भी हैं...