बेंदी जंगल में जेजेएमपी दस्ते और पुलिस में मुठभेड़:पुलिस को जेजेएमपी सुप्रीमो पप्पू लोहरा के साथ 10 से 12 उग्रवादियों के आने की थी सूचना... 3 उग्रवादी ढेर

लातेहार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सदर थाना क्षेत्र के बेंदी जंगल के डूबा आहार के समीप सोमवार की शाम लगभग चार बजे जेजेएमपी उग्रवादियों और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में तीन उग्रवादी मार गिराए गए। इसमें दो की पहचान की गई,जिसमें हेरहंज का शिवनाथ लोहरा व मनिका का मनोज राम शामिल है। घटना स्थल से दो एसएलआर व एक इंसास राइफल बरामद किया है। घटना की सूचना मिलते ही पलामू डीआईजी राजकुमार लकड़ा व लातेहार एसपी अंजनी अंजन ने मौके पर पहुंचकर जायजा लिया। टीम में शामिल सभी पुलिस पदाधिकारी व जवानों को बधाई दी।

पलामू डीआईजी राजकुमार लकड़ा ने कहा कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि जेजेएमपी उग्रवादी भ्रमण शील है। सर्च अभियान में पुलिस ने तीन जेजेएमपी के उग्रवादियों को मार गिराया है। मारे गए उग्रवादियों को शिनाख्त चल रही है। वहीं एसपी ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि जेजेएमपी उग्रवादी के सुप्रीमो पप्पू लोहरा अपनी टीम के साथ बेंदी जंगल में भ्रमण शील है। इसके बाद अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी संतोष कुमार मिश्रा व लातेहार अंचल पुलिस निरीक्षक बबलू कुमार के नेतृत्व में दो अलग-अलग टीम गठित की गई। दोनों टीम अलग-अलग दिशा से घेराबंदी की। एक टीम को देखते ही उग्रवादियों ने अंधाधुंध फायरिंग करना शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने फायरिंग की। इसमें तीन उग्रवादी ढेर हो गए।

पुलिस की घेराबंदी देख भागे, आधा किमी दौड़ाकर मारा
बताया जाता है कि जेजेएमपी उग्रवादी के सुप्रीमो पप्पू लोहरा 10 से 12 की संख्या में अपने दस्ते के साथ मौजूद था। जैसे ही पुलिस दोनों ओर से घेराबंदी कर नजदीक पहुंची, उग्रवादियों ने अंधाधुंध फायरिंग करते हुए भागने लगे। पुलिस ने भी करीब आधा किलो मीटर तक दौड़ा उग्रवादियों को मार गिराया गया।

3 दिन में उग्रवादियों ने 2 घटनाओं को दिया था अंजाम
जेजेएमपी के उग्रवादियों ने एक दिन पहले रविवार को चंदवा थाना क्षेत्र के हक्का तुरवा सड़क निर्माण कार्य में गोलीबारी कर की थी। वहां मौजूद मुंशी का मोबाइल लूटकर ले गए थे। इससे पहले शुक्रवार को सदर प्रखंड लातेहार के गोवा गांव में जुआरियों के साथ मारपीट व लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था। यह दोनों घटना पुलिस के लिए चुनौती बनी थी। इस कारण पुलिस इनके टोह में निकले ओर तीन उग्रवादियों को मार गिराया गया।

जेजेएमपी के उग्रवादियों का होता था आना-जाना- जिस जगह पर यह मुठभेड़ हुई, वह इलाका जेजेएमपी के उग्रवादियों का शरण स्थली रहा है। ग्रामीण सूत्रों के अनुसार डूबा आहार तालाब के समीप के ग्रामीण कच्ची सड़क के रास्ते प्रायः जेजेएमपी के उग्रवादियों का आना-जाना होता था।

खबरें और भी हैं...