धरती आबा को किया नमन:आजादी की लड़ाई में योगदान को किया याद

बारियातू3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रखंड अंतर्गत डाढ़ा पंचायत के करमाही धर्मकुड़िया भवन परिसर में धरती आबा भगवान विरसा मुंडा जयंती सह झारखंड स्थापना दिवस राजी पाड़हा सरना प्रार्थना सभा लातेहार के तत्वावधान में आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता सुनील उरांव ने की व सुरेश उरांव ने संयुक्त रूप से की। राजी पड़हा सरना प्रार्थना सभा के मुख्य अतिथि लातेहार के जिला अध्यक्ष अशोक उरांव सहित अन्य अतिथियों ने भगवान बिरसा मुंडा के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसके पश्चात मुख्य अतिथि अशोक ने कहा की बिरसा मुंडा का जन्म 15 नवंबर 1875 को हुआ था। 25 वर्ष की आयु में अंग्रेजों से लड़ाई करके हमारे झारखंड के जन जंगल जमीन को बचाया और बिरसा मुंडा के आंदोलन से अंग्रेजों को सीएनटी एक्ट 1908 लागू करना पड़ा।

इस कारण आज आदिवासियों का जमीन कोई गैर आदिवासी खरीद नहीं सकता है। वहीं हेमंत सरकार को 1932 खतियान लागू करने के लिए धन्यवाद भी दिया गया। इसके ठीक पूर्व लातेहार जिला कमेटी के उपाध्यक्ष राजू उरांव,जलेसर उरांव, मुनिया उरांव, राजकुमार उरांव, सुरेश उरांव ,मुनिया उरांव, कुलसरी उरांव, सुरेश उरांव बुद्धदेव उरांव,प्रखंड प्रमुख उर्मिला देवी ,पंचायत पंचायत समिति संतोष भगत, डाढा पंचायत उप मुखिया रेक्सोना उरांव का स्वागत माला पहना कर किया गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से जयपाल उरांव, समलाल उरांव ,राजदेव उरांव, सचू उरांव,

प्रभारी सुरेश उरांव, चंद्रदेव उरांव,चंदन उरांव, रामखेलावन उरांव, रामकलीया उरांव, संजय उरांव, मीना उरांव, मोहन उरांव, राजेश उरांव, कार्तिक उरांव, सुरेंद्र उरांव, बंधन उरांव, सीतामनि उरांव, पृथ्वी उरांव, सुशीला उरांव सुनीता उरांव, हीरामणि उरांव सहित काफी संख्या में सरना धर्मावलंबी महिला पुरुष उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...