ये कैसी शिक्षा:एक कमरे में 1, 2 व 3 कक्षाओं के बच्चे पढ़ रहे, सबको पढ़ना पड़ रहा दूसरे का सिलेबस

लोहरदगा2 महीने पहलेलेखक: प्रसन्नजीत
  • कॉपी लिंक
कक्षा 1,2 और 3 के बच्चे साथ में पढ़ रहे हैं। - Dainik Bhaskar
कक्षा 1,2 और 3 के बच्चे साथ में पढ़ रहे हैं।

शहर के बीच रेलवे साइडिंग निकट एनएच 143ए पर स्थित राजकीय मध्य विद्यालय पावरगंज में इन दिनों अध्ययनरत छात्र-छात्राओं में कक्षा 1 से 3 के कुल 50 छात्रों को एक कमरे में बैठना पड़ता है। इसी तरह कक्षा 4 और 5 के 72 छात्रों को एक साथ ही एक ही कमरे में पढ़ाई करनी पड़ रही है। इसका कारण विद्यालय में कक्षा का नहीं होना है। विद्यालय को हाल ही में चार कमरा व एक हॉल का नया भवन भी मिला है, जो पर्याप्त नहीं है। एक कार्यालय सहित चार पुराने कमरे वाले भवन में बरामदा सहित कमरे के छत का प्लास्टर जगह जगह पर छोड़ चुका है।

नतीजा कभी भी बड़ी घटना हाे सकती है। इस कारण पुराने कमरे में बच्चों को नहीं बिठाया जाता है। अब नए भवन के चार कमरों में 257 बच्चों की पढ़ाई होती है। नतीजा कक्षा 1 से 3 तक के बच्चों की एक कमरे में और कक्षा 4 व 5 के बच्चों की पढ़ाई एक कमरे में होती है। इससे कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों को साथ-साथ अलग-अलग कक्षाओं की सिलेबस से होकर गुजरना पड़ रहा है।

स्कूल में हैं 257 बच्चे- नए भवन में हैं केवल 4 कमरे, पुराना भवन है जर्जर
कक्षा एक में पांच, कक्षा दो में 18, कक्षा 3 में 27, कक्षा 4 में 27, कक्षा 5 में 45, कक्षा 6 में 61, कक्षा 7 में 40 और कक्षा 8 में कुल 34 बच्चे अध्ययनरत हैं। एक से पांच तक के 132 बच्चे के लिए एक ही कमरा है। मामले पर विद्यालय की प्रधानाध्यापिका सीमा कुमारी चौधरी से की गई बातचीत में उन्होंने बताया कि पूर्व में कई बार विभाग को विद्यालय के इस जर्जर स्थिति को लेकर सूचित किया गया जा चुका है। इससे कक्षा कार्य में भी परेशानी हो रही है। हाल ही में तकनीकी लोग विद्यालय जांच के लिए पहुंचे थे। अगर और कमरे नहीं बने ताे ऐसी ही स्थिति रहेगी।

खबरें और भी हैं...