पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • 103 Doctors Did Not Practice Private, 12.83 Crore NPA Will Give RIMS; List Released From The Year 2012 To 2014

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दावा:103 डॉक्टरों ने प्राइवेट प्रैक्टिस नहीं की,12.83 करोड़ एनपीए देगा रिम्स; वर्ष 2012 से 2014 तक की सूची जारी की

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नियमावली... रिम्स के डॉक्टर-कर्मी प्राइवेट प्रैक्टिस नहीं कर सकते
  • कौशल किशोर सिन्हा ने एनपीए के लिए किया था हाईकोर्ट में केस

स्वास्थ्य विभाग के निर्देश के बाद रिम्स प्रबंधन ने 103 डॉक्टरों की सूची जारी की है। इस सूची में शामिल डॉक्टरों के बारे में यह कहा गया है कि इन डॉक्टरों ने दिसंबर 2012 से लेकर सितंबर 2014 के बीच प्राइवेट प्रैक्टिस नहीं की है। इस आशय का शपथ पत्र भी इन डॉक्टरों की ओर से दिया गया है। अब इन डॉक्टरों को सरकार द्वारा करीब 12.83 करोड़ रुपए का भुगतान एनपीए (नन प्रेक्टिसिंग एलाउंस) के रूप में किया जाएगा।

सूची जारी करने के पीछे यह तर्क दिया जा रहा है कि यह आम लोगों की जानकारी में आए कि इन डॉक्टरों ने प्राइवेट प्रैक्टिस नहीं की है। रिम्स प्रबंधन वर्ष 2014 के बाद तथा वर्तमान में कार्यरत डॉक्टरों के नाम भी जारी करेगा। क्योंकि हाईकोर्ट के निर्देश पर गठित कमेटी ने कई डॉक्टरों के प्राइवेट प्रैक्टिस किए जाने की रिपोर्ट की है।

कौशल किशोर सिन्हा ने एनपीए के लिए किया था हाईकोर्ट में केस

रिम्स के सेवानिवृत्त डॉ. कौशल किशोर सिन्हा ने हाईकोर्ट में केस किया था। इसमें कहा गया था कि रिम्स नियमावली के अनुसार संस्थान के सभी पद गैर व्यावसायिक किए गए हैं। यानि के रिम्स के डॉक्टर- कर्मचारी प्राइवेट प्रैक्टिस नहीं कर सकते। डॉक्टरों से हर माह इस आशय का शपथ पत्र भी लिया जाता है। रिम्स बनने के बाद डॉक्टरों को एनपीए का भुगतान किया जाने लगा। हालांकि वित्त विभाग की आपत्ति के बाद सितंबर 2012 से लेकर दिसंबर 2014 के बीच एनपीए का भुगतान नहीं किया गया। जिसके खिलाफ डॉ. कौशल किशोर सिन्हा ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। हाईकोर्ट ने अपने निर्देश में सरकार को एनपीए भुगतान करने का निर्देश दिया है।

राज्य योजना प्राधिकृत समिति के पास भेजा गया मामला

डॉक्टरों के एनपीए भुगतान का मामला राज्य योजना प्राधिकृत समिति के पास भेजा गया। योजना प्राधिकृत समिति ने एनपीए भुगतान से पहले यह जानना चाहा कि किन-किन डॉक्टरों ने इस अवधि में प्राइवेट प्रैक्टिस नहीं की। इसके बाद ही एनपीए भुगतान पर निर्णय लिया जा सकता है।

सूची में प्रमुख डॉक्टरों के नाम
रिम्स प्रबंधन द्वारा जारी की गई सूची में रिम्स में कार्यरत डॉ. समीर टोप्पो, डॉ. अर्चना, डॉ. लाधो लकड़ा, डॉ. एसबी सिंह, डॉ. एचके पाल, डॉ. राहुल प्रसाद, डॉ. विनय कुमार, डॉ. एमके पासवान, डॉ. यूपी साहू, डॉ. एके चौधरी सहित रिटायर्ड हो चुके डॉक्टरों के नाम हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें