• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • 1.46 Crores Rupees From Jewelry Businessman, 2.3 Fort Saina Looted, Arrested From Ormanjhi In 2 Hours

काेडरमा घाटी में लूटपाट:पटना के जेवर व्यवसायी से 1.46 कराेड़ रुपए, 2.3 किलाे साेना लूटा; 2 घंटे में ओरमांझी से गिरफ्तार

रांची/पटना9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लुटेरों से बरामद कैश और जेवरात। - Dainik Bhaskar
लुटेरों से बरामद कैश और जेवरात।
  • पटना से कोलकाता जा रहे थे बिहार के स्वर्ण व्यवसायी
  • इन लुटेरों ने 2018 में कोडरमा में भी ज्वेलरी दुकान में की थी लूटपाट
  • 56 किलाे चांदी भी लूटी, दोनों लुटेरे बिहार के

काेडरमा घाटी में रविवार शाम लुटराें ने पटना के जेवर व्यवसायी से 1.46 कराेड़ रुपए, 2.35 किलाे साेना और 56 किलाे चांदी लूट लिए। लेकिन 2 घंटे बाद ही रांची पुलिस ने ओरमांझी के ब्लाॅक चाैक पर दाे लुटेराें काे गिरफ्तार कर लिया। लेकिन दाे लुटेरे दूसरी गाड़ी से फरार हाे गए।

दाेनाें लुटेराें से लूटे गए सारे सामान बरामद कर लिए गए हैं। इनमें से एक धीरज बक्सर जिले के पांडेपुर गांव का रहने वाला है, जबकि राहुल यादव औरंगाबाद के अंकुरहा गांव का। फरार लुटेराें की तलाश में छापेमारी की जा रही है। एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि पटना का एक बड़ा स्वर्ण व्यवसायी पैसे और जेवरात लेकर काेलकाता जा रहे थे।

लुटेराें काे इसकी भनक लग चुकी थी और वे पटना से ही पीछा कर रहे थे। शाम करीब 4 बजे काेडरमा घाटी में लुटेराें ने ओवरटेक कर व्यवसायी की गाड़ी राेकी और नकदी व सारे जेवरात लूट लिए। सूचना मिलते ही पुलिस मुख्यालय ने काेडरमा, हजारीबाग और रांची पुलिस काे अलर्ट किया। पुलिस ने तत्काल माेर्चा संभाला और शाम 6 बजे ओरमांझी में दाेनाें लुटेराें काे गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। लूटकांड में शामिल अन्य अपराधियाें की जानकारी जुटाई जा रही है।

पुलिस ने राेका ताे तान दी पिस्ताैल, फिर सरेंडर किया

सूचना मिलते ही एसएसपी की क्यूआरटी ओरमांझी के ब्लाॅक चाैक पर पहुंच गई थी। व्यवसायी ने लुटेराें की गाड़ी का नंबर (डब्ल्यूबी 02-एएल 9764) पहले ही पुलिस काे उपलब्ध करा दिया था। क्यूआरटी ने जैसे ही लुटेराें की गाड़ी देखी, उसे रुकने का इशारा किया। लेकिन लुटेराें ने पुलिस के जवानाें पर ही पिस्ताैल तान दी।

इस पर पुलिस ने भी माेर्चा संभाला। कहा-सरेंडर कराे वरना गाेली मार दूंगा। पुलिस की सख्ती का असर हुआ और दाेनाें लुटेराें ने हथियार डाल दिए। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। उनकी गाड़ी से लूटे गए रुपए और जेवरात बरामद हाे गए।

काेलकाता की ज्वेलरी दुकान में जेवर खपाने की थी योजना

गिरफ्तार लुटेराें ने पुलिस काे बताया कि स्वर्ण व्यवसायी से लूटपाट के बाद दाेनाें काेलकाता जा रहे थे। काेलकाता के ज्वेलरी दुकान में लूटे गए इन जेवराताें काे खपाने की याेजना थी। लेकिन इससे पहले ही ओरमांझी में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। लुटेराें ने बताया कि उनके गिराेह का आका बंगाल में ही शरण लिए हुए है।

लुटेरों ने पुलिस काे सरगना के नाम का खुलासा भी कर दिया। लेकिन पुलिस ने उनके नाम की जानकारी नहीं दी। का नाम भी बताया, लेकिन पुलिस ने उसके नाम का खुलासा करने से इनकार कर दिया। एसएसपी ने बताया कि पूछताछ के बाद ही इसका खुलासा किया जाएगा।

बिहार के राैशन उर्फ लड्डू गिराेह से भी जुड़े हैं लुटेरे

लुटेराें ने बताया कि वे दाेनाें औरंगाबाद जिले के मेहंदिया थाना क्षेत्र के शेंभुआ निवासी राैशन कुमार उर्फ लड्डू के गिराेह से भी जुड़ा हुआ है। लड्डू के इशारे पर कई राज्याें में ज्वेलरी की दुकानाें में लूटपाट कर चुका है। अब ओरमांझी थाने में पुलिस इनसे लगातार पूछताछ कर रही है ताकि पूरे गिराेह का खुलासा हाे सके। एसएसपी ने बताया कि 2018 में काेडरमा में ज्वेलरी दुकान में लूटपाट में भी दाेनाें शामिल थे। इसके अलावा कई अन्य जगहाें पर भी लूटपाट की घटना काे अंजाम दे चुका है। पुलिस अब दाेनाें का आपराधिक इतिहास खंगाल रही है कि इन लुटेराें ने कहां-कहां लूटपाट की है।