झारखंड में भीषण सड़क हादसा, 17 की मौत:बस से भिड़ा गैस सिलेंडर से लदा ट्रक, सड़क पर बिखर गए यात्रियों के शव

पाकुड़9 महीने पहले

झारखंड के पाकुड़ में बुधवार सुबह भीषण सड़क हादसे में बस सवार 17 लोगों की मौत हो गई। साहिबगंज के बरहरवा से दुमका जा रही बस, लिट्टीपाड़ा-अमड़ापाड़ा रोड पर पडेरकोला के पास गैस सिलेंडर से लदे ट्रक से टकरा गई। बस में कुल 55 से ज्यादा लोग सवार थे। इसमें करीब 31 लोग घायल हुए । पाकुड़ SP एचपी जनार्दन ने कहा कि 16 शव बरामद किए गए। इसमें 14 की पहचान हो चुकी है। 1 व्यक्ति की मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई। बस के अंदर से लोगों को निकालने का काम करीब 3 घंटे में पूरा हुआ। हादसे का कारण घने कोहरे को माना जा रहा है।

राज्य सरकार ने की एक-एक लाख की सहायता राशि देने की घोषणा

झारखंड सरकार ने दुर्घटना में मरने वाले लोगों के परिजनों को एक-एक लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है। वहीं घायलों को 10-10 हजार रुपए की सहायता राशि के साथ इलाज का पूरा खर्च उठाने का निर्णय किया गया है। पाकुड़ के उपायुक्त वरूण रंजन ने राज्य सरकार की घोषणा की पुष्टि की। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने भी इस हादसे पर दुख जताया है।

बस की बॉडी काट घायलों को निकाला बाहर

बस और ट्रक में टक्कर इतनी जोरदार थी कि दोनों ही गाड़ियों के परखच्चे उड़ गए। कई लोग झटके के साथ बस के बाहर गिर गए और कई अंदर ही फंस गए। हादसे के बाद गैस कटर से बस की बॉडी काटकर लोगों को बाहर निकाला गया। बताया जा रहा है कि बस का ड्राइवर अब तक जिंदा है। वह बस में ही फंसा हुआ था। स्थानीय लोगों ने बताया कि दुर्घटना में मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ने की आशंका है। गंभीर रूप से घायल 24 लोगों को रेफर किया गया।

बस और ट्रक के बीच टक्कर के बाद दोनों के ही परखच्चे उड़ गए।
बस और ट्रक के बीच टक्कर के बाद दोनों के ही परखच्चे उड़ गए।

दरअसल, कृष्णा रजत बस और LPG सिलेंडर्स से भरे ट्रक में हुई टक्कर इतनी तेज थी कि दोनों गाड़ियां एक दूसरे में घुस गईं। पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

टक्कर के बाद के बाद बस में सवार यात्रियों के शव सड़क पर जा गिरे।
टक्कर के बाद के बाद बस में सवार यात्रियों के शव सड़क पर जा गिरे।

हादसे की जानकारी मिलते ही सबसे पहले स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे। प्रशासन और पुलिस के पहुंचने से पहले ही वह लोग राहत और बचाव के कार्य में जुट गए। दुर्घटना के बाद जिला प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारियों की टीम भी मौके पर पहुंची।

हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने बस से घायलों को निकाला और उन्हें अस्पताल लेकर गए।
हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने बस से घायलों को निकाला और उन्हें अस्पताल लेकर गए।

मृतकों की सूची

सुधाकर कर्मकार, 47 वर्ष, बरहड़वा, बंगालीपाड़ा
सोना देवी, 57 वर्ष, बाकुडीह साहेबगंज,
मेलिशेंट मुर्मू (महिला), 30 वर्ष, बाकुडीह, साहेबगंज
राकेश मंडल, 30 वर्ष, बाकुडीह साहेबगंज
बबलू टुडू , 45 वर्ष, झिगटी बारहमसिया
दिवाकांत झा, 55 वर्ष, सुधियाडीह, देवघर
नमिता देवी, 45 वर्ष, सरवां देवघर
निर्मल साह, 55, बरहड़वा, रतनपुर
बिमला देवी, 55 वर्ष
सीगनी देवी, दुमका
संजय साह, 50 वर्ष, मसलिया दुमका (बस कंडेक्टर )
शाहबुद्दीन अंसारी, 30 वर्ष, फूलपहाड़ी, लिट्टीपाड़ा
अमूति रजवार, 42 वर्ष, बीरूपुर, वीरभूम, पश्चिम बंगाल
द्रोनाथ हेम्ब्रम, 50 वर्ष, कालाझोर, मड़ापाड़ा

घायलों की सूची

विक्रम दास : बरहड़वा
विकास घोष : कटहलबाड़ी
मिथुन बागती : बरहड़वा
इबराज नदाप : राधानगर
मिथुन बागती : बरहड़वा
बिष्णु बागती : बरहड़वा
मुन्ना साहा : बरहड़वा
चंद्रमोहन : बरहड़वा
वीरेंद्र भगत : बरहड़वा
स्वीटी दास : अमड़ापाड़ा
बसंती हेम्ब्रम : अमड़ापाड़ा
पीयूष रजवाड़ : सिवड़ी, बंगाल
मेघनाथ रजवाड़ : सिवड़ी, बंगाल
पियाली मालतो : हिरणपुर
जायन हांसदा : हिरणपुर
श्रुति कुमारी : बरहड़वा
सुरेंद्र यादव : सारठ
रोकी मंडल : तीनपहाड़
ऋषिदेव मंडल : साहिबगंज
मोनिका बास्की : बरहड़वा
मंडल टुडू : पतना
बड़कू मरांडी : देवघर
राजेश कुमार चौबे : बरहड़वा
राजीव रंजन मंडल : दुमका

पुलिस अधिकारियों का अनुमान, कोहरे के कारण हादसा
दुर्घटना की जांच करने पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने बताया कि ऐसा लग रहा है कि कोहरे के कारण यह हादसा हुआ है। ट्रक चालक को सामने आती बस नहीं दिखी। उसने सीधे बस में टक्कर मार दी। जिस समय यह हादसा हुआ, उस समय बस में बैठे काफी लोग सो रहे थे। इस कारण किसी को संभलने तक का समय नहीं मिला।

शवों की पहचान करने के लिए बनाई गई टीम
इधर, शवों की पहचान करने में आ रही परेशानियों को देखते हुए पुलिस की ओर से 4 सदस्यीय टीम गठित की गई है। यह टीम दुर्घटना में घायल लोगों की मदद से मरने वालों की पहचान करने में जुटी हुई है। मृतकों में से कई के पास किसी तरह के दस्तावेज नहीं होने के कारण परेशानी आ रही है।

CM ने दु:ख जताया
पाकुड़ में हुए सड़क दुर्घटना पर CM हेमंत सोरेन ने दु:ख जताया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा है-'पाकुड़ से लिट्टीपाड़ा-आमड़ापाड़ा सड़क दुर्घटना की हृदयविदारक खबर से मन अत्यंत व्यथित है। परमात्मा दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान कर शोक संतप्त परिवारों को दुःख की घड़ी सहन करने की शक्ति दे।' CM ने जिला प्रशासन को घायलों के समुचित इलाज के उचित निर्देश दिए हैं। इधर, DC वरूण रंजन दुर्घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। राहत व बचाव कार्य जारी है।

झारखंड हादसे में ट्रक ड्राइवर की आंखों देखी:बोला- घना कोहरा था, मैं अपनी लेन में था, रॉन्ग साइड से तेज रफ्तार बस ने टक्कर मार दी

खबरें और भी हैं...