घाटशिला जेल में सुसाइड का प्रयास:जेल में बंद चटनी डॉन ने चूड़ी से गर्दन काट और बुलेट रानी ने चूड़ी के टुकड़े निगल कर आत्महत्या का किया प्रयास, एमजीएम में भर्ती

​​​​​​​घाटशिला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घाटशिला जेल। (फाइल) - Dainik Bhaskar
घाटशिला जेल। (फाइल)

आर्म्स एक्ट की आरोपी महिला चटनी डॉन उर्फ प्रिया सिंह (25) और हत्या की आरोपी महिला बुलेट रानी उर्फ श्वेता दास (27) ने मंगलवार को घाटशिला जेल में आत्महत्या का प्रयास किया। चटनी डाॅन ने अपनी चूड़ी से गर्दन काटकर और बुलेट रानी ने चूड़ी के टुकड़े निगलकर जान देने की काेशिश की। घटना की सूचना मिलते ही जेल में अफरातफरी का माहौल बन गया। दाेनाें काे आनन-फानन में घाटशिला अनुमंडल अस्पताल ले जाया गया। यहां से दोनों को बेहतर इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल जमशेदपुर रेफर कर दिया गया।

इस संबंध में जेल अधीक्षक नागेन्द्र सिंह ने बताया कि चटनी डॉन और बुलेट रानी को जमशेदपुर घाघीडीह जेल से घाटशिला जेल करीब दो माह पहले ही शिफ्ट किया गया था। उन्होंने घाघीडीह जेल में भी उत्पात मचा रखी थी। वह पहले भी इस तरह का ड्रामा कर चुकी है। इस वजह से उसे घाटशिला जेल शिफ्ट किया गया था।

यहां अधिकारियों पर लगातार वह दबाव बना रही थी कि उसे जमशेदपुर जेल भेजा जाए। चटनी डाॅन ने मंगलवार को अपनी चूड़ी तोड़कर गर्दन पर खरोंच कर लिया। चटनी डॉन और बुलेट रानी उर्फ श्वेता दास ने जेल के अधिकारियों को यह भी बताया कि उन्होंने चूड़ी के टुकड़े को निगल लिया है।