गढ़वा में ठेकेदार का अपहरण, पुलिस ने छुड़ाया; 6 गिरफ्तार:बकाया रुपए वापस नहीं करने पर लग्जरी गाड़ी से उठा ले गए, 2 घंटे में पकड़ाए

गढ़वा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार अपराधियों के साथ प्रेस वार्ता करते एसडीपीओ अवध कुमार यादव। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार अपराधियों के साथ प्रेस वार्ता करते एसडीपीओ अवध कुमार यादव।

गढ़वा ने पुलिस ने अपराधियों द्वारा किए गए अपहरण को नाकाम कर दिया। रविवार को 6 अपराधियों ने एक ठेकेदार का अपहरण कर लिया। जिसकी सूचना परिजनों ने पुलिस को दी। सूचना पर पुलिस ने तत्काल टीम गठित कर छापेमारी कर अपहृत व्यक्ति काे मुक्त कराया और 6 अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया। इस घटना की जानकारी सोमवार को प्रेस वार्ता कर एसडीपीओ अवध कुमार यादव ने दी।

दो घंटे के अंदर पुलिस ने बदमाशों को पकड़ा
एसडीपीओ अवध कुमार यादव ने बताया कि रविवार की देर शाम डंडई थाना क्षेत्र के डंडई गांव निवासी मुंगालाल भारती के पुत्र आकाशदीप भारती का अपहरण हो गया था। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। जानकारी के बाद तत्काल एक टीम गठित कर छापेमारी किया। गढ़वा पुलिस ने पलामू पुलिस को घटना की सूचना दी। सूचना के बाद चेकिंग के दौरान चैनपुर में दो वाहनों को पुलिस ने बरामद कर लिया। बरामद कर सभी को थाना लाया गया।

गिरफ्तार अपराधियों में ये है शामिल
पूछताछ के दौरान अपहरणकर्ताओं की पहचान रांची के रातू रोड स्थित दीपक राय मिश्रा का पुत्र अंकुर मिश्रा, नामकुम का अब्दुल रहीम का पुत्र कासिम रहीम, रामगढ़ जिला के मांडू थाना क्षेत्र के अब्दुल मिनहाज का पुत्र मोहम्मद जस्सी, रांची लोअर बाजार निवासी मोहम्मद याकूब का पुत्र मोहम्मद इम्तियाज, मोहम्मद सैफ का पुत्र दिलशाद सिद्धकी व बोकारो जिला के गांधीनगर थाना क्षेत्र के जरिहिडीह निवासी मोहम्मद कलाम का पुत्र दिलफेंकार के रूप में हुई। सभी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

रुपए वापस नहीं करने की वजह से किया था अपहरण
एसडीपीओ अवध कुमार ने बताया कि आकाशदीप भारती एक ठेकेदार है। जो अंकुर मिश्रा से 1.5 लाख रुपए व कासिम रहीम से 2.70 लाख लिया था। काफी दिन बीत जाने के बाद पैसा नहीं देने के कारण इन लोगों के द्वारा योजना बनाकर उसे अपहरण किया गया था। एसडीपीओ ने बताया कि घटना का जानकारी उसके पिता के द्वारा थाना में दी गई। अभियान में एसडीपीओ के अलावे थाना प्रभारी कृष्णा कुमार पीएसआई आशीष कुमार सिंह, अशोक कुजुर, अनुरंजन कुमार, एएसआई अभिमन्यु कुमार सिंह सहित पुलिस के जवान शामिल थे।