पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

वर्दी-ए-इंसाफ आंदोलन:10 फोटो में देखिए मोरहाबादी में कैसे गुजरा सहायक पुलिसकर्मियों का पहला दिन, कोई किसी के बच्चों को खेलाता रहा तो किसी ने की अपने बच्चे की मालिश

रांची7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रांची के मोरहाबादी मैदान में सहायक पुलिसकर्मियों के आंदोलन के पहले दिन बच्चे को मालिश करती उसकी मां और एक अन्य बच्चे के साथ खेलती महिला सहायक पुलिसकर्मी।
  • नौकरी में परमानेंट करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे सहायक पुलिसकर्मी

नौकरी में परमानेंट करने की मांग को लेकर रांची के मोरहाबादी मैदान में 12 नक्सल प्रभावित जिलों के 2500 सहायक पुलिसकर्मी जमे हुए हैं। पहले दिन यहां पहुंचे सहायक पुलिसकर्मियों में कुछ महिलाएं प्रेग्नेंट थी तो कुछ महिला सहायक पुलिसकर्मी अपने बच्चों को लेकर यहां पहुंची थीं। दिन भर सहायक पुलिसकर्मी महिलाएं बच्चों के साथ खेलतीं रहीं तो कुछ महिलाएं अपने बच्चों की मालिश करती रही।

महिला सहायक पुलिसकर्मी मोरहाबादी मैदान के स्टैंड में सोती रहीं। इस दौरान उनके बच्चे उनके पास खेलते दिखे।
महिला सहायक पुलिसकर्मी मोरहाबादी मैदान के स्टैंड में सोती रहीं। इस दौरान उनके बच्चे उनके पास खेलते दिखे।

पेड़ की छांव के नीचे गुजारा पूरा दिन
महिला-पुरुष सहायक पुलिसकर्मियों ने शनिवार को पहले दिन पेड़ की छांव और मोरहाबादी मैदान में बने स्टैंड के नीचे गुजारा। इस दौरान सहायक पुलिसकर्मियों ने अनुशासन का पूरी तरह पालन किया। उनका कहना है कि तीन साल के अनुबंध के खत्म हो जाने के बाद उनके पास कुछ करने को नहीं बचेगा। पूर्व की सरकार ने आश्वासन दिया था कि तीन साल तक की ड्यूटी के बाद उन्हें परमानेंट कर दिया जाएगा। लेकिन इस संबंध में सरकार ने कोई प्रक्रिया नहीं शुरू की है इसलिए उनका आंदोलन जारी है।

महिला सहायक पुलिसकर्मियों के बीच सो रही बच्ची।
महिला सहायक पुलिसकर्मियों के बीच सो रही बच्ची।

आंदोलन के पहले दिन राज्यभर के 25 सौ सहायक पुलिस कर्मियों को मनाने में डीआईजी-एसएसपी के अलावा 2 एसपी, 3 डीएसपी और 3 मेजर रैंक के अधिकारी शनिवार को दिनभर परेशान रहे, लेकिन सभी पूरी तरह से विफल रहे। इसके बाद वार्ताकारों ने सहायक पुलिसकर्मियों के प्रतिनिधिमंडल को सीएम से मिलवाने की बात कह कर साथ ले गए लेकिन उन्हें डीआईजी-एसएसपी से मिलवा दिया। इससे सहायक पुलिसकर्मी नाराज हो गए और कहा कि उनके साथ छल किया गया है।

बच्चों को लेकर मोरहाबादी मैदान पहुंची महिला सहायक पुलिसकर्मी बच्चों को संभालती दिखी। इस दौरान उनके पास तख्तियां भी थी जिस पर उनकी मांगों से संबंधित स्लोगन लिखे गए थे।
बच्चों को लेकर मोरहाबादी मैदान पहुंची महिला सहायक पुलिसकर्मी बच्चों को संभालती दिखी। इस दौरान उनके पास तख्तियां भी थी जिस पर उनकी मांगों से संबंधित स्लोगन लिखे गए थे।
पेड़ की छांव के नीचे बैठकर महिला सहायक पुलिसकर्मी अपना दुख दर्द भी बांटती रही।
पेड़ की छांव के नीचे बैठकर महिला सहायक पुलिसकर्मी अपना दुख दर्द भी बांटती रही।
बच्चे को रोता देख एक महिला सहायक पुलिसकर्मी उसके पास पहुंची और फिर उसे ग्राउंड में ले जाकर उसके साथ खेलती रही।
बच्चे को रोता देख एक महिला सहायक पुलिसकर्मी उसके पास पहुंची और फिर उसे ग्राउंड में ले जाकर उसके साथ खेलती रही।
महिला सहायक पुलिसकर्मियों के साथ खेलता बच्चा। कई महिला सहायक पुलिसकर्मी यहां अपने बच्चों को लेकर पहुंची हैं।
महिला सहायक पुलिसकर्मियों के साथ खेलता बच्चा। कई महिला सहायक पुलिसकर्मी यहां अपने बच्चों को लेकर पहुंची हैं।
मोरहाबादी मैदान में शनिवार आठ बजे से ही सहायक पुलिसकर्मियों का जुटना शुरू हो गया था। 12 नक्सल प्रभावित जिलों के 2500 सहायक पुलिसकर्मी अपनी मांगों को लेकर शांतिपूर्वक अनुशासन में बैठे रहे।
मोरहाबादी मैदान में शनिवार आठ बजे से ही सहायक पुलिसकर्मियों का जुटना शुरू हो गया था। 12 नक्सल प्रभावित जिलों के 2500 सहायक पुलिसकर्मी अपनी मांगों को लेकर शांतिपूर्वक अनुशासन में बैठे रहे।
मोरहाबादी मैदान में बनाए गए स्टैंड के नीचे जमा सहायक पुलिसकर्मी। यहां पुलिसकर्मियों को जहां जगह मिली सो गए और दिन भर आंदोलन की रूपरेखा तैयार करते रहे।
मोरहाबादी मैदान में बनाए गए स्टैंड के नीचे जमा सहायक पुलिसकर्मी। यहां पुलिसकर्मियों को जहां जगह मिली सो गए और दिन भर आंदोलन की रूपरेखा तैयार करते रहे।
सहायक महिला पुलिसकर्मी के साथ उनकी बच्ची। महिला ने कहा कि बच्चों की रोटी के लिए हम हक की लड़ाई के लिए यहां आए हुए हैं।
सहायक महिला पुलिसकर्मी के साथ उनकी बच्ची। महिला ने कहा कि बच्चों की रोटी के लिए हम हक की लड़ाई के लिए यहां आए हुए हैं।
0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें