गढ़वा में 4 मूर्ति चोर गिरफ्तार:गरदाहा मठ-खरौंधा मंदिर में प्रतिमाओें की चोरी का खुलासा, बिहार में बेचते थे सामान

गढ़वाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस के हत्थे चढ़े अपराधी। - Dainik Bhaskar
पुलिस के हत्थे चढ़े अपराधी।

गढ़वा के दो अलग-अलग मंदिरों में हुई प्रतिमाओं की चोरी के मामले में पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसकी पहचान पलामू जिले के डडीला कला गांव निवासी दिलकश रोशन, महताब आलम, चंचल कुमार व अरसद हुसैन के रूप में की गई है। इनके पास से चोरी हुई प्रतिमाओं को बरामद कर लिया जाएगा। पुलिस इस गिरोह में शामिल 3 और लोगों की तलाश कर रही है।

SDPO अवध कुमार यादव ने सोमवार को सदर थाने में बताया कि बीते 5 फरवरी को कांडी थाना क्षेत्र के दरगाह गांव स्थित गरदाहा मठ से राधा कृष्ण की मूर्ति चोरी की गई। इस मामले में मठ के पुजारी भारद्वाज मिश्रा ने प्राथमिकी दर्ज कराई। SP अंजनी कुमार झा के निर्देश पर मामले की जांच के लिए टीम गठित की गई। इसमें गढ़वा, कांडी, रंका मझिआंव के एक्सपर्ट पुलिस पदाधिकारियों को शामिल किया गया। गठित टीम ने अनुसंधान शुरू किया। पुलिस ने पहले इस मामले में दिलकश रोशन को संदेह के आधार पर गिरफ्तार किया। आरोपी से सख्ती से पूछताछ की गई।

इस दौरान उसने गरदाह मठ के साथ-साथ पूर्व में खरौंधा मंदिर में हुई चोरी की घटना में संलिप्तता स्वीकार कर ली। दिलकश रोशन के घर से खरौंधा मंदिर से चोरी गई मूर्ति के कुछ खंडित हिस्से बरामद किए गए। SDPO ने बताया कि यह गिरोह सेमोरा मंदिर में भी चोरी करने की योजना बना रहा था। वहां सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता होने के कारण कामयाबी नहीं मिल पाई।

दिलकश की निशानदेही पर इस गिरोह में शामिल सात अभियुक्तों को चिन्हित किया गया। इसमें चार की गिरफ्तारी हो गई है। जल्द ही इस गिरोह के अन्य सदस्यों की भी गिरफ्तारी कर लिया जाएगा। पुलिस ने बताया कि दिलकश, चंचल रवि का पूर्व से आपराधिक इतिहास रहा है। यह लोग अलग-अलग स्थानों से चोरी के मामले में कई बार जेल जा चुके हैं।

पूछताछ में पता चला है कि यह गिरोह चोरी का सामान बिहार के सासाराम व औरंगाबाद के कुछ लोगों के साथ मिलकर अलग--अलग जगह पर बेचता हैं। पत्रकार वार्ता के दौरान पुलिस निरीक्षक मझिआंव संजय खा, कांडी थाना प्रभारी फैज रवानी, पुलिस निरीक्षक, सुधीर कुमार दास, नीतीश कुमार, संजय कुमार, नीरज कुमार, विकास कुमार, मुकेश कुमार कुशवाहा, पंकज सिंदुरिया सहित पुलिस के पदाधिकारी व जवान मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...