चतरा में नशे पर नकेल:अफीम-गांजे की खेती और तस्करी करने के आरोप में दर्ज थे मामले, 1 रात में 2 तस्कर चढ़ गए हत्थे

चतरा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अफीम की खेती।(प्रतिकात्मक तस्वीर) - Dainik Bhaskar
अफीम की खेती।(प्रतिकात्मक तस्वीर)

झारखंड के चतरा में नशे के कारोबार पर नकेल कसने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। तीन-तीन वर्ष से फरार चल रहे माफियाओं और तस्करों पर कानून का शिकंजा कसा जा रहा है। प्रतापपुर पुलिस ने अफीम और गांजे की खेती तथाा तस्करी करने के आरोप में 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। सभी कानून प्रक्रियाएं पूरी करने के बाद इन दोनों अपराधियों को जेल दिया गया। 1 ही रात में 2 अलग-अलग मामलों में दोनों की गिरफ्तारी की गई। इन दोनों पर NDPS एक्ट के तहत मामला दर्ज था। प्रतापपुर पुलिस की ओर से बताया गया कि रविवार को थाना क्षेत्र के लिप्ता कठौतिया गांव निवासी रामप्रवेश भारती एवं कुन्दा थाना क्षेत्र के बरवाडीह गांव निवासी गोपेन्द्र यादव को अलग-अलग छापेमारी कर हिरासत में लिया गया। दोनो आरोपी को मेडिकल जांच के बाद न्यायायिक हिरासत में भेज दिया गया है।पुलिस ने बताया कि थाना कांड संख्या 167/20 में रामप्रवेश भारती पर अफीम की खेती करने का मामला दर्ज है, वही कांड 87/18 गोपेन्द्र यादव पर गांजा उपज करने एवं गांजे की तस्करी करने का मामला दर्ज है। यह दोनों काफी समय से फरार चल रहे थे। उच्चाधिकारियों की ओर से लगातार इन दोनों फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश प्राप्त हो रहे थे। इसके आलोक में पुलिस की ओर से कार्रवाई की गई।

खबरें और भी हैं...