• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • 'Your Plan, Your Government At Your Door', Camps Will Be Organized At Panchayat Level, Problems Will Be Solved

12 अक्टूबर से हेमंत सरकार होगी आपके द्वार:'आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार', पंचायत स्तर पर लगेंगे शिविर, समस्याओं का निकलेगा हल

रांची4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

झारखंड सरकार 12 अक्टूबर से 'आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार' कार्यक्रम शुरू कर रही है। इस योजना के नाम से ही जाहिर है कि सरकार जनता की योजनाओं का लाभ देने के लिए उनके घर तक पहुंचेगी। यह पहली बार नहीं सरकार ने इससे पहले भी 'आपके अधिकार आपकी सरकार आपके द्वार' कार्यक्रम का सफल आयोजन किया था जिसमें लोगों की समस्या और योजनाओं को लेकर सरकार ने एक वृहद कार्यक्रम चलाया था।

कब से शुरू होगा कब तक चलेगा
झारखंड में हेमंत सरकार के तीन साल पूरा होने के मौके पर यह वृहद आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम 12 अक्टूबर से शुरू किया होगा जो 14 नवंबर तक चलेगा। इसे दो चरण में आयोजित किया जायेगा पहला चरण 12 से 22 अक्टूबर तक और दूसरा चरण 1 से 14 नवंबर तक होगा।

पंचायत स्तर पर लगेंगे शिविर
इस आयोजन के माध्यम से सरकार 'आपकी योजना आपकी सरकार आपके द्वार' कार्यक्रम के तहत पंचायत स्तर पर शिविरों का आयोजन किया जायेगा। राज्य सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं को ग्रामीणों के बीच रखा जाएगा। शिविर से ही आम लोगों की समस्याओं को दूर करने की कोशिश होगी। सरकार उन पंचायतों पर फोकस कर रही है जहां पिछले साल शिविर नहीं लगाया जा सका था।
ग्रामीण योजनाओं का लाभ लेने के लिए कर सकेंगे आवेदन

ग्रामीणो को उनके लाभ के लिए दिये जाने वाली योजनाओं की जानकारी भी इस कार्यक्रम के माध्यम से ग्रामीणो तक पहुंचाने की कोशिश होगी। झारखंड राज्य खाद्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत 5 लाख नए ग्रीन राशन कार्ड, सावित्री बाई फुले किशोरी समृद्धि योजना, मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना, सर्वजन पेंशन योजना के, किसान क्रेडिट कार्ड सहित कई योजनाओं के लिए आवेदन भी इसी कार्यक्रम के द्वारा आमंत्रित किये जा सकेंगे। इस कार्यक्रम में लोग यह भी शिकायत कर सकेंगे कि उन्हें कौन सी योजना का लाभ नहीं मिल रहा है।

हेमंत सरकार पहले भी कर चुकी है इस तरह के आयोजन

ध्यान रहे कि हेमंत सरकार ने दो साल पूरा होने भी 'आपके अधिकार आपकी सरकार आपके द्वार' कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। राज्य सरकार के आंकड़ों के अनुसार, इस कार्यक्रम के तहत विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए मिले कुल 35.95 लाख आवेदनों में से 35.56 लाख का निष्पादन किया गया था। इस कार्यक्रम की सफलता के बाद सरकार एक बार फिर इसे सफलता पूर्व संचालित करने की रणनीति बना रही है।

खबरें और भी हैं...