पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्काॅर्पियो द्वारा बच्चे को टक्कर मारने का मामला:थानेदार ने फोन नहीं उठाया तो बस्ती के लोगों ने मरीन ड्राइव दोबारा किया दो घंटे जाम, आश्वासन पर सड़क से हटे

जमशेदपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टायर जला करीब 2 घंटे तक मरीन ड्राइव को जाम रखा। - Dainik Bhaskar
टायर जला करीब 2 घंटे तक मरीन ड्राइव को जाम रखा।

कदमा थाना अंतर्गत मरीन ड्राइव घोड़ा चौक के पास बस्ती के लोगों ने मरीन ड्राइव को शुक्रवार को दोबारा जाम कर दिया। सुबह करीब 9 बजे बस्ती के लोग जुटे। टायर जला करीब 2 घंटे तक मरीन ड्राइव को जाम रखा। लाेगों का कहना है कि गुरुवार को स्काॅर्पियो के धक्के से घायल 10 साल के बच्चा का बेहतर इलाज कराने के लिए थाना प्रभारी ने आश्वासन दिया था। इस कारण लोगों ने मरीन ड्राइव को जाम मुक्त किया था। पर इसके बाद थानेदार ने बच्चे के परिजनों का फोन नही उठाया। बच्चे के माता-पिता गरीब है। इलाज के पैसे के लिए वे लोग थानेदार को फोन कर रहे थे।

बस्ती के लोगों का आरोप है कि सुबह तक थानेदार ने फोन नहीं उठाया। जिस कारण लोगों ने शुक्रवार को दोबारा मरीन ड्राइव को जाम कर दिया। इधर, सूचना पर डीएएसपी कमल किशोर, थाना प्रभारी मनोज कुमार ठाकुर मौके पर पहुंचे और लोगों को समझा बुझा कर जाम मुक्त कराया।

बच्चे के परिजन प्रशासन से 30 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं। परिजनों का आरोप है कि टीएमएच में बच्चे का ठीक से इलाज नहीं हो पा रहा है। इस कारण वे लोग बच्चे को लेकर वेल्लौर जाएंगे। साथी बस्ती के लोग स्काॅर्पियो ड्राइवर को भी मौके पर बुलाने की मांग पर हंगामा करने लगे। पुलिस के उचित मुआवजा दिलाने के आश्वासन पर बस्ती के लोग शांत हुए और मरीन ड्राइव को जाम मुक्त किया। वहीं, बच्चा कोरोना पॉसेटिव है। टीएमएच के कोरोना वार्ड में बच्चे का इलाज चल रहा है।

मालूम हो कि गुरुवार की सुबह मरीन ड्राइव पार करने के दौरान एक स्कॉर्पियो ने बच्चे को टक्कर मार दी थी। इसमें बच्चा गंभीर रूप से घायल हुआ था। घटना के बाद बस्ती के लोगों ने स्काॅर्पियो ड्राइवर पर कार्रवाई और बच्चे के बेहतर इलाज कराने की मांग पर करीब 3 घंटे तक मरीन ड्राइव को जाम रखा था। लोगों का आरोप था कि करीब 10 गाड़ियों का एक काफिला मरीन ड्राइव से गुजर रहा था। कुछ गाड़ियों में भाजपा के झंडे भी लगे थे।

खबरें और भी हैं...