पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जमशेदपुर:जबरदस्ती कोरोना जांच कराने को लेकर भड़के मजदूरों का हंगामा; सड़क पर लगाया जाम, पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर हटाया

जमशेदपुर7 महीने पहले
मजदूरों के हंगामा की सूचना के बाद उन्हें समझाने पहुंची पुलिस। मजदूरों ने करीब दो घंटे तक हंगामा किया।
  • सुबह सात बजे से 10 बजे तक चला मजदूरों का हंगामा, हंगामे के चलते मानगो चौक से लेकर मानगो पुल तक सड़क जाम
  • कोरोना जांच कराने को लेकर होमगार्ड के जवानों और मजदूरों के बीच हुई थी नोकझोंक, पिटाई का लगाया गया था आरोप

मानगो थाना क्षेत्र के मानगो चौक पर करीब तीन घंटे तक चला मजदूरों का हंगामा शांत हो गया है। पुलिस के समझाने के बावजूद नहीं मानने पर हल्का बल प्रयोग कर मजदूरों को सड़क पर से हटाया गया। इसके बाद यातायात को सुचारू कराया गया। मजदूरों का आरोप था कि जबरदस्ती उन्हें पकड़कर कोरोना जांच कराया जा रहा था जबकि वे पहले कोरोना जांच करा चुके हैं। मजदूरों ने मेडिकल टीम के साथ मौजूद होमगार्ड के जवानों पर पिटाई और बदतमीजी का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि दो मजदूरों को पकड़कर होमगार्ड के जवान साथ ले गए हैं। उधर, इस संबंध में मानगो थाना प्रभारी का कहना है कि मजदूरों के आरोपों की जांच की जा रही है। जो भी होमगार्ड का जवान दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

इससे पहले गुरुवार सुबह सात बजे मानगो चौक पर रोजाना की तरह सैंकड़ों मजदूर काम की तलाश में यहां पहुंचे थे। वे सड़क किनारे खड़े थे जबकि कुछ मजदूर सड़क किनारे लगे दुकानों में नाश्ता कर रहे थे। आरोप है कि इस दौरान मेडिकल टीम के साथ होमगार्ड के जवान यहां पहुंचे और मजदूरों को जबरदस्ती पकड़कर कोरोना जांच के लिए ले जाया जाने लगा। मजदूरों ने बताया कि वे पहले कोरोना जांच करा चुके हैं, इसके बावजूद होमगार्ड के जवानों ने उनकी नहीं सुनी और उनकी पिटाई की गई, महिला मजदूरों के साथ बदतमीजी की गई, नाश्ता कर रहे लोगों का खाना भी फेंक दिया गया।

मानगो चौक पर जुटे मजदूर।
मानगो चौक पर जुटे मजदूर।

बता दें कि मेडिकल टीम जगह जगह कैंप लगाकर कोरोना जांच कर रही है। गुरुवार को मेडिकल टीम के साथ होमगार्ड के जवान मानगो चौक पर पहुंचे थे। मजदूरों ने बताया कि वे 11 सितंबर को कोविड-19 टेस्ट करा चुके हैं, इसके बावजदू मेडिकल टीम के साथ मौजूद होमगार्ड के जवान कोविड जांच के लिए उन्हें जबरदस्ती पकड़ कर ले जाने लगे जिसका उन्होंने विरोध किया। इस दौरान होमगार्ड के जवानों और मजदूरों के बीच नोकझोंक हो गई। बता दें कि मानगो चौक पर दिहाड़ी मजदूरी के लिए रोजाना सैकड़ों की संख्या में मजदूर जुटते हैं। फिर यहां से विभिन्न जगहों पर काम के लिए रवाना होते हैं।

मजदूरों का आरोप- प्रशासन की टीम ने उनके साथ मारपीट भी की
हंगामा कर रहे मजदूरों ने आरोप लगाया कि उनके साथ जोर-जबरदस्ती और मारपीट भी की गई। साथ ही स्थानीय लोगों की दुकानें भी जबरन बंद कराने की कोशिश की। मजदूरों ने बताया कि मानगो चौक पर खुले कुछ दुकानों में मजदूर बैठकर नाश्ता कर रहे थे। इस दौरान कोरोना जांच के लिए मेडिकल टीम के साथ पहुंचे होमगार्ड के जवानों ने खाना फेंक दिया और कोरोना जांच के लिए कुछ महिलाओं के साथ बदतमीजी भी की।

हंगामा कर रही लक्ष्मी देवी ने बताया कि हम लोग रोज खाने कमाने वाले हैं। अगर वे अच्छे से जांच कराने के लिए कहते तो हमलोग जांच कराते। 11 सितंबर को भी कोरोना जांच कराया गया था। बार-बार कोरोना जांच के लिए कहते हैं, ऐसे में हम काम कैसे करेंगे। महिला ने कहा कि जब हम भूखे मर रहे थे तो कोई भी हमें पूछने नहीं आया। महिला ने कहा कि सिपाही आया और कहा कि दुकान बंद करो, जांच कराओ, दुकान क्यों बंद करेंगे?

जाम हटवाते मानगो थाना प्रभारी।
जाम हटवाते मानगो थाना प्रभारी।

मानगो थाना प्रभारी के पहुंचने के बाद शांत हुआ हंगामा
उधर, हंगामा और सड़क जाम की सूचना के बाद मानगो थाना प्रभारी मिथिलेश कुमार पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। फिर उन्होंने मजदूरों से बातचीत कर उन्हें शांत कराने की कोशिश की। मजदूरों के नहीं मानने पर हल्का बल प्रयोग किया गया। करीब तीन घंटे तक चले मजदूरों का हंगामा पुलिस के हस्तक्षेप के बाद शांत हो गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें