• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Jamshedpur Corona Cases Update | Jamshedpur Coronavirus Lockdown Sixith Day Phase 4 News Latest; MGM Isolation Ward, Kolhan Corona Cases Today

जमशेदपुर: लॉकडाउन फेज-4 का छठवां दिन / एमजीएम का आईसोलेशन वार्ड फुल, 100 की जगह 104 संदिग्धों का चल रहा इलाज, कोल्हान में अब तक 28 कोरोना पॉजिटिव मरीज

शनिवार को शहर में विभिन्न चौक-चौराहों पर पुलिस ने जांच अभियान चलाया। इस दौरान कई लोगों का चालान भी काटा गया। साथ ही कुछ लोगों को हिदायत देकर भी छोड़ दिया गया। शनिवार को शहर में विभिन्न चौक-चौराहों पर पुलिस ने जांच अभियान चलाया। इस दौरान कई लोगों का चालान भी काटा गया। साथ ही कुछ लोगों को हिदायत देकर भी छोड़ दिया गया।
X
शनिवार को शहर में विभिन्न चौक-चौराहों पर पुलिस ने जांच अभियान चलाया। इस दौरान कई लोगों का चालान भी काटा गया। साथ ही कुछ लोगों को हिदायत देकर भी छोड़ दिया गया।शनिवार को शहर में विभिन्न चौक-चौराहों पर पुलिस ने जांच अभियान चलाया। इस दौरान कई लोगों का चालान भी काटा गया। साथ ही कुछ लोगों को हिदायत देकर भी छोड़ दिया गया।

  • राज्य में 334 पॉजिटव मरीजों में 0.96 फीसदी यानी तीन की मौत, राष्ट्रीय औसत 3 फीसदी
  • झारखंड में मरीजों के ठीक होने का औसत 42 प्रतिशत, 334 में से 136 मरीज हो चुके हैं ठीक

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:50 PM IST

जमशेदपुर/चाईबासा/सरायकेला-खरसावां. कोल्हान में अब तक 28 कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। शनिवार को जमशेदपुर के तीन संदिग्धों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। तीन नए मरीज मिलने के बाद पूर्वी सिंहभूम में कोरोना संक्रमितों की संख्या 20 हो गई है जबकि पश्चिमी सिंहभूम और सरायकेला-खरसावां में चार-चार मरीज मिले हैं। उधर, एमजीएम के 100 बेड का कोरोना वार्ड फुल हो गया है। शुक्रवार को 38 संदिग्ध मरीजों के आने के बाद अतिरिक्त 4 बेड लगाया गया। लेकिन शुक्रवार शाम सात बजे के बाद किसी मरीज को अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में जगह नहीं मिल पाई। 

सदर अस्पताल में भी नो बेड की स्थिति
वहीं सदर अस्पताल में भी 10 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया है जहां भी नो बेड की स्थिति बनी है। अस्पताल प्रबंधन ने इसकी जानकारी जिले के सिविल सर्जन समेत अफसरों को दी। अस्पताल में मौजूद संसाधन व कोरोना संदिग्धों की बढ़ती संख्या के बारे में भी बताया। अस्पताल प्रबंधन के अनुसार प्रवासी मजदूर, पर्यटक, छात्र व अन्य लोगों के शहर आने के बाद अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में 15 दिनों में 550 मरीजों को एडमिट किया।

पिछले एक सप्ताह में झारखंड में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। राज्य के 21 जिलों में कोरोना संक्रमण पहुंच चुका है। इस बीच अच्छी खबर भी है। झारखंड के संक्रमितों में बीमारी से लड़ने की क्षमता अधिक है। क्योंकि यहां कोरोना से मरने वालों का प्रतिशत देश के सभी बड़े राज्यों व राष्ट्रीय औसत से बहुत कम है।  केंद्र सरकार और covid19india.org के आंकड़ों के अनुसार कोरोना से मरने वालों का राष्ट्रीय औसत 3 प्रतिशत के करीब है। लेकिन झारखंड में यह आंकड़ा 0.92 प्रतिशत है। देश में अब तक कोरोना के कुल 124075 पॉजिटिव केस मिले हैं। इनमें 3707 की मौत हो चुकी है। जबकि झारखंड में 324 पॉजिटव मरीजों में से सिर्फ 3 की मौत हुई है। यह आंकड़ा झारखंड के लिए बड़ी राहत देने वाला है। झारखंड में मरीजों का रिकवरी रेट भी राष्ट्रीय औसत से बेहतर है। हालांकि पिछले तीन दिनों में अचानक अधिक केस बढ़ने से इसमें थोड़ी गिरावट आई है। लेकिन इसके बाद भी यह राष्ट्रीय औसत के मुकाबले बहुत अधिक है। देश में कोरोना मरीजों के ठीक होने का औसत 41.3 प्रतिशत है। कुल 124075 में से 51307 मरीज ठीक हो चुके हैं। जबकि झारंखड में मरीजों के ठीक होने का औसत करीब 42 प्रतिशत है। यहां के 324 में से 136 मरीज ठीक हो चुके हैं।

शनिवार को शहर के विभिन्न सड़कों पर लोगों की चहल-पहल दिखी। हालांकि तेज धूप होने के चलते 11 बजे के बाद अधिकतर सड़के सुनसान हो गई।

शुक्रवार को पूर्वी सिंहभूम के जुगसलाई की एक महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। 35 वर्षीय महिला के साथ कोलकाता से आए उसके पति और चार बच्चों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। महिला के पॉजिटिव पाए जाने की पुष्टि डीसी रवि शंकर शुक्ला ने की है। उन्होंने बताया कि महिला 16 मई को एक निजी वाहन से जमशेदपुर पहुंची थी। वाहन में उसके साथ उसका पति व बच्चा भी था। चेकनाका पर जांच के दौरान रोके जाने के बाद इन्हें दंडाधिकारी ने लोयला स्कूल के क्वारैंटाइन सेंटर भेजा था। जहां महिला, उसके पति व बच्चों का सैंपल लिया गया। कदमा के क्वारैंटाइन सेंटर में रखा गया था। वहीं पश्चिमी सिंहभूम के चाईबासा में तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

एमजीएम में 35 कोरोना संदिग्धों की जांच, 4 की रिपोर्ट पॉजिटिव
एमजीएम के वायरोलॉजी लैब में शुक्रवार को कोरोना के 350 संदिग्धों की जांच हुई। इनमें चार की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली। पूर्वी सिंहभूम जिले का एक व पश्चिमी सिंहभूम के तीन पॉजिटिव मरीज मिले। इनमें कोल्हान सहित राज्य के दूसरे जिलों की रिपोर्ट भी है। पूर्वी सिंहभूम में जुगसलाई की महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। महिला अपने पति व बच्चों के साथ कार से कोलकाता से 16 मई को शहर आई थी। महिला समेत परिवार को कदमा के क्वारैंटाइन सेंटर में रखा था। शुक्रवार को रिपोर्ट आने के बाद महिला को टीएमएच के कोविड हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया। जबकि पति व बच्चे निगेटिव पाए गए। क्वारैंटाइन सेंटर को सैनेटाइज कराया गया। इसके साथ जुगसलाई में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 2 हो गई है। सर्विलांस टीम ने पूर्वी सिंहभूम जिले से कुल 229 संदिग्धों का सैंपल एमजीएम भेजा।

टाटानगर स्टेशन के आरक्षण केंद्र में टिकट बुकिंग शुरू, पहले दिन 210 सीटें कराई बुक
लॉकडाउन के दो माह बीतने के बाद टाटानगर रेलवे स्टेशन के आरक्षण केंद्र पर शुक्रवार से एक काउंटर से टिकट मिलना शुरू हो गया। दो पालियों में टिकट की बुकिंग हुई। पहली पाली सुबह 8 से 2 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर 2 से रात 8 बजे तक रही। दोनों पालियों में मिलाकर कुल 210 टिकट की बुकिंग हुई। इससे रेलवे को करीब 90,110 रुपए राजस्व की कमाई हुई। हालांकि, आम दिनों की तुलना में कम टिकट की बिक्री हुई। इस दौरान लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दिखे। शुक्रवार से हावड़ा-बड़बिल जनशताब्दी एक्सप्रेस के लिए भी आरक्षण शुरू हो गया। गुरुवार को इसमें समस्या आ रही थी। फिलहाल 1 से 7 जून तक के लिए टाटानगर से खुलने वाली और होकर चलने वाली सभी 6 ट्रेनों में स्लीपर और एसी की टिकट वेटिंग में चल रही है।

टाटानगर से गुजरने वाली ट्रेनों में एडवांस रिजर्वेशन 30 दिन हुआ
रेल मंत्रालय ने 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों के लिए एडवांस रिजर्वेशन पीरियड 7 दिन से बढ़ाकर 30 दिन कर दिया है। अब एक महीने पहले टिकट ले सकते हैं। इन ट्रेनों में तत्काल बुकिंग नहीं होगी। इसके लिए आरएसी -वेटिंग लिस्ट के टिकट जारी किए जाएंगे। जिनका टिकट वेटिंग लिस्ट में रह जाएगा, उन्हें सफर करने की अनुमति नहीं होगी। रेलवे ने 12 मई से 15 जोड़ी स्पेशल राजधानी स्‍पेशल ट्रेन शुरू की गई थीं। 15 जोड़ी ट्रेनें चलाई गईं।

रेल की बोगियों में भी प्रवासियों को किया जाएगा क्वारैंटाइन
लॉकडाउन 4.0 में बाहर से आने वाले प्रवासियों की बढ़ती संख्या से निपटने के लिए प्रशासन ने टाटानगर रेलवे स्टेशन पर रेलवे की 22 बोगियों को क्वारेंटाइन सेंटर व आइसोलेशन सेंटर के तौर पर उपयोग करने का फैसला लिया है। फिलहाल हर दिन औसतन 300 प्रवासी जिले में आ रहे हैं। प्रशासन ने शहर के कई निजी स्कूलों का अधिग्रहण किया है। जमशेदपुर को-ऑपरेटिव कॉलेज में बनाए क्वारैंटाइन सेंटर में पहले दिन 28 प्रवासियों को रखा।

117 लोगों को जांच के बाद किया गया क्वारैंटाइन, 66 होम क्वारैंटाइन भेजा
देश के विभिन्न हिस्सों से शहर पहुंचे 117 लोगों को लोयोला स्कूल स्थित बनाए गए क्वारैंटाइन सेंटर के सैंपल लिए जाने के बाद विभिन्न क्वारैंटाइन सेटर में भेजा गया है। इसके अलावा ग्रीन जोन से आए पटमदा के 57 व घाटशिला के नौ प्रवासियों की जांच के बाद होम क्वारैंटाइन में भेजा गया। देर शाम ट्रेन से जसीडीह से शहर पहुंचे 37 प्रवासियों के सैंपल लेने की प्रक्रिया देर रात तक चलती रही। प्रशासन ने मानगो के यीशु सोसाइटी में बनाए गए क्वारैंटाइन सेंटर में सात, जीटी हॉस्टल में 10, प्रोफेशनल कॉलेज व अमर ज्योति स्कूल में 30-30 प्रवासियों को क्वारैंटाइन किया गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना