पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लॉकडाउन:झारखंड में ट्रेन और बस से पहुंचे 2 लाख 39 हजार 593 प्रवासी मजदूर

रांची4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आपदा प्रबंधन सचिव अमिताभ कौशल और परिवहन सचिव के रविकुमार ने संयुक्त रूप से बताया की प्रवासी मजदूरों को लेकर अब तक 102 ट्रेनें राज्य में आ चुकी हैं।
  • अब तक 102 ट्रेनें राज्य में आ चुकी, 84 अन्य ट्रेन को एनओसी दिया जा चुका है

राज्य में अब तक 2 लाख 39 हजार 593 प्रवासी मजदूर लौट आए हैं। प्रवासी मजदूरों का झारखंड आना जारी है। आने वालों में ट्रेन से एक लाख 38 हजार 64 और बस से एक लाख एक हजार 2 9 प्रवासी मजदूर झारखंड पहुंचे हैं। आपदा प्रबंधन सचिव अमिताभ कौशल और परिवहन सचिव के रविकुमार ने संयुक्त रूप से बताया की प्रवासी मजदूरों को लेकर अब तक 102 ट्रेनें राज्य में आ चुकी हैं। 14 ट्रेन रास्ते में है। इसके अलावा 84 अन्य ट्रेन को एनओसी दिया जा चुका है।

परिवहन सचिव ने ईपास के बारे में बताया कि पूरे राज्य में 217214 लोगों ने ही पास के लिए आवेदन दिया था। इसमें 96 फ़ीसदी आवेदन को मंजूर करते हुए पास जारी किया गया। 1.18 लाख दूसरे राज्यों के लिए पास लिया गया जबकि 1.63 लाख लोगों ने अंतर जिला जाने के लिए पास बनवाए थे। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने नियमों में कुछ परिवर्तन किया है, जिसके तहत अब जिन राज्य में प्रवासी मजदूर हैं। वह राज्य ही मजदूरों को संबंधित राज्य से कंसल्ट ले करके वापस भेजेगा।

झारखंड के मुख्य सचिव ने सभी राज्यों के मुख्य सचिव को लिखा है
वन एवं पर्यावरण विभाग के प्रधान सचिव एपी सिंह ने बताया कि राज्य के मुख्य सचिव ने देश के सभी मुख्य सचिव को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि उनके राज्य से अगर रेल से कोई भी प्रवासी मजदूर झारखंड भेजे जा रहे हैं तो ट्रेन का सेड्यूल शेयर करें। इसके साथ ही उन्होंने यह भी अनुरोध किया है कि अगर उनके राज्य में झारखंड का कोई प्रवासी मजदूर पैदल चलता हुआ मिलता है तो उसे वहीं पर रोक दिया जाए और इसकी सूचना झारखंड सरकार को दी जाए। उसके भेजने की व्यवस्था की जाए। अगर उन्हें रोकने में कोई खर्च आता है तो झारखंड सरकार वह खर्च वहन करने को तैयार है।

एपी सिंह ने बताया कि वंदे मातरम स्कीम के तहत विदेश से भारत सरकार जो प्रवासियों को ला रही है। उनमें झारखंड के लोग भी आ रहे हैं, अब तक ऐसे 18 लोगों के आने की सूचना है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि बर्मा, यूएस, अरब आदि जगहों से भी लोगों को आना है। इसके अलावा सुदूर राज्यों के पहाड़ी इलाकों में फंसे वैसे प्रवासी मजदूर जो ट्रेन से नहीं आ पा रहे हैं। उनके लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय से हवाई यात्रा के माध्यम से लाने का प्रयास झारखंड सरकार द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि पूर्व में जो रेल गाड़ियां चल रही थी, उसमें 1 पॉइंट से शुरू होकर दूसरे पॉइंट तक आती थी। लेकिन अब बीच के स्टेशनों पर भी रोका जा रहा है ताकि उस स्टेशन के से आसपास के जिलों के लोग उतर सकें। उन्होंने बताया कि कंटेनमेंट जोन से फिलहाल किसी को नहीं लाया जा रहा है।

आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव अमिताभ कौशल ने बताया कि राज्य में फिलहाल 112189 लोगों को गवर्नमेंट क्वांरैटाइन में रखा गया जबकि 157941 लोगों को होम क्वारैंटाइन में रखा गया है। राज में 7042 क्वारैंटाइन सेंटर बनाए गए हैं। आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से ओबीसी उत्पन्न परिस्थितियों में मदद के लिए अब तक कुल 74 करोड़ 53 लाख 28 हजार दिए जा चुके हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें