बोकारो में बुजुर्ग ने निभाई साथ जीने-मरने की कसमें:पत्नी की मृत्यु के 10वें दिन 65 वर्षीय बुजुर्ग ने अपने ही कमरे में धोती का फंदा बनाकर आत्हत्या कर ली

बोकारो (बरमसिया)एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
घटना की सूचन मिलने के बाद आसपास के लोग घर के आगे जमा हो गए हैं। वहीं मामले की तफ्तीश कर रही है। - Dainik Bhaskar
घटना की सूचन मिलने के बाद आसपास के लोग घर के आगे जमा हो गए हैं। वहीं मामले की तफ्तीश कर रही है।

बोकारो के चंदनकियारी प्रखंड के बरमसिया ओपी क्षेत्र के मयुरडूबी गांव निवासी 65 वर्षीय निमाई रजक ने आत्महत्या कर ली है। 10 दिन पहले ही उनकी पत्नी की मृत्यु हुई है। पत्नी की जुदाई के बाद से ही वे लगातार परेशान रह रहे थे।

उनके पुत्र ने पुलिस को बताया है कि मां की मौतके बाद से लगातार वे अवसाद में रह रहे थे। वे किसी से बातचीत भी नहीं करते थे। गुरुवार देर रात अपने कमरे में ही फांस का फंदा बनाकर वे अपने जान दे दिए। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए चास भेज दिया है।

रात में सबके साथ खाना कर सोने गए थे
बेटे ने बताया कि निमाई रजक गुरुवार रात को खाना खाकर अपनी कमरे में सोने चले गए थे। सुबह जब देर तक नहीं जगे तो परिजनों ने कमरे के खिड़की से देखा कि निमाई रजक ने अपने धोती के सहारे फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। इसकी सूचना बरमसिया पुलिस को दी गई। पुलिस की उपस्थिति में कमरे का दरबाजा को तोड़कर शव को नीचे उतारा गया।

(बोकारो के बरमसिया से इनपुट:-जयदेव सुत्रधर)