कोडरमा में कर्मचारी के मौत के बाद हंगामा:ताप केंद्र में 15 फीट की ऊंचाई से गिरा कर्मी, सहकर्मियों ने जाम किया प्लांट गेट

कोडरमाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुआवजे की मांग को लेकर धरने पर बैठे कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
मुआवजे की मांग को लेकर धरने पर बैठे कर्मचारी।

झारखंड के कोडरमा जिले में कोडरमा ताप विद्युत केंद्र में काम करने वाले एक कर्मचारी की हादसे में मौत हो गई। प्लांट में काम के दौरान कर्मचारी 15 फीट की ऊंचाई से जमीन पर गिर गया। दुर्घटना सोमवार की शाम करीब साढ़े सात बजे हुई। कर्मचारी यहां SR टर्बो कंपनी के फिटर के रूप में कार्यरत था। उसकी पहचान पतरातू थाना क्षेत्र के ग्राम बरतुवा निवासी कालेंद्र सिंह के रूप में की गई है। उसकी उम्र करीब 50 वर्ष थी। घटना की जानकारी मिलने के बाद अपने सहकर्मी की मौत के बदले मुआवजे की मांग को लेकर दूसरे कर्मचारियों ने मंगलवार की सुबह प्लांट गेट पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। दूसरे कर्मचारियों व अधिकारियों को अंदर जाने से रोक दिया।

दुर्घटना का शिकार हुआ कर्मचारी
दुर्घटना का शिकार हुआ कर्मचारी

बताया गया कि कर्मचारी के शव को बगैर मुआवजे के उसके गांव भेज दिया गया। इससे दूसरे कर्मचारी भड़क गए। मंगलवार की सुबह मजदूरों ने यूनियन नेता विजय पासवान के नेतृत्व प्लांट के गेट नंबर 1 को पूरी तरह जाम कर दिया गया। किसी अधिकारी अथवा कर्मचारी को प्लांट में प्रवेश नहीं करने दिया गया। कर्मचारियों ने बताया कि कालेंद्र सिंह प्लांट में काम करने के दौरान दुर्घटना का शिकार हुआ।

इसके बाद उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा गया। उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए चिकित्सकों ने उसे रांची रेफर कर दिया। रास्ते में उसकी मौत हो गई। मजदूर की मौत होने के बाद कंपनी के लोगों ने आनन-फानन में उनके शव के पैतृक आवास पहुंचा दिया। घटना की सूचना मिलने के बाद दूसरे मजदूर शव को वापस प्लांट लाने की मांग पर अड़ गए। यूनियन नेता ने बताया कि अधिकारियों की मिलीभगत से मजदूरों को शोषण किया जा रहा है। मजदूर की मौत की सूचना लोगों को नहीं दी गई । कहा कि मृतक के परिजनों को जब तक उचित मुआवजा नहीं मिलेगा तब तक गेट पूरी तरह जाम रहेगा।