गढ़वा में जघन्य हत्याकांड का खुलासा:पति ने पहले पत्नी की गला दबाकर हत्या की फिर शव को लगाई आग, गढ़ी लापता होने की कहानी

गढ़वा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला का शव बरामद करने पहुंची पुलिस। - Dainik Bhaskar
महिला का शव बरामद करने पहुंची पुलिस।

झारखंड के गढ़वा जिले के रंका अनुमंडल में पुलिस ने मंगलवार को एक जघन्य हत्याकांड का खुलासा किया। पुलिस ने एक महिला की अधजली लाश झाड़ियों से बरामद की है। जांच में पता चला कि पति ने पहले पत्नी की गला दबाकर हत्या की फिर शव में आग लगाकर जला दिया। इसके बाद पुलिस के पास पहुंचकर पत्नी के गायब होने की झूठी कहानी गढ़ी। पुलिस ने महिला के लापता होने का मामला दर्ज कर जांच शुरू की। 48 घंटे के अंदर नई कहानी सामने आ गई।

घटना के संबंध में जानकारी देते हुए रंका थाना प्रभारी रामेश्वर उपाध्याय ने बताया कि 2 दिन पूर्व बिमली देवी 28 वर्ष के पति विकास कुमार साहू ने रंका थाना में एक आवेदन दिया था। इसमें पत्नी के गायब होने का दावा किया गया। बेटी के गायब होने की जानकारी मिलने के बाद मायके वाले ससुराल पहुंचे। लड़की के पति से पूछताछ शुरू की। शक के आधार पर लड़की के परिवार वालों ने थाने में एक और मामला दर्ज कराया। इसके बाद पुलिस ने पति को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। पुलिस के सख्त रवैये के कारण ने पति ने सारी कहानी बयां कर दी।

बताया कि गायब होने की कहानी रचने से एक दिल पूर्व ही उसने अपनी पत्नी की हत्या की। लाश को ठिकाने लगने के उद्देश्य से आग लगा दी। शव को जंगल में फेंक दिया। पति की निशानदेही पर पत्नी के शव को राष्ट्रीय राजमार्ग 343 खरडीहा के पास सेरासाम और सिंजो के बीच के जंगल से बरामद कर लिया गया। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया गया है। अनुसंधान में पुलिस अधिकारी शहबाज अंसारी,पिंकु कुमार ने अहम भूमिका निभाई।

मायके वालों ने पहले ही जताई थी अनहोनी की आशंका
लड़की के मायके वालों ने पहले भी बेटी के साथ अनहोनी की आशंका पुलिस के समक्ष व्यक्त की थी। 1 माह पूर्व लड़की के भाई एवं पिता ने डाल्टेनगंज महिला थाने में आवेदन देकर दामाद पर बेटी को परेशान करने का मामला दर्ज किया था। कहा था कि दामाद बेटी को अक्सर हत्या करने का धमकी देता है। यह आशंका सच हो गई। मां-बाप, भाई और परिवार वालों का रो -रो कर बुरा हाल है।

खबरें और भी हैं...