पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुलाकात:राज्यपाल ने कहा- डॉक्टर की संदेहास्पद मौत का कारण आर्थिक तंगी होना संवेदनहीन, विभाग के प्रधान सचिव से ध्यान देने को कहा

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राज्यपाल ने कहा कि किसी भी कर्मी को समय पर वेतन न मिलना न्यायसंगत नहीं है। -फाइल फोटो।
  • स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉक्टर नितिन मदन कुलकर्णी ने राजभवन में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से की मुलाकात

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने गोड्डा में कार्यरत डॉक्टर विजय कृष्ण श्रीवास्तव के संदेहास्पद मौत के संबंध में कहा है कि मौत के पीछे का कारण आर्थिक तंगी होना संवेदनहीन है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग को इस ओर संवेदनशीलता के साथ ध्यान देने की जरूरत है। बता दें कि स्वास्थ विभाग के प्रधान सचिव डॉक्टर नितिन मदन कुलकर्णी ने बुधवार को राजभवन में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की। इस दौरान राज्यपाल ने उक्त बातें कही।

राज्यपाल ने कहा कि किसी भी कर्मी को समय पर वेतन न मिलना न्यायसंगत नहीं है। वर्तमान में पूरे देश में जब देश की सारी जनता इन कोरोना योद्धाओं के साथ है, उनका उत्साह बढ़ाया जा रहा है और जनता उनके प्रति अपना आभार भी प्रकट कर रही है तो ऐसे में आर्थिक तंगी के चलते डॉक्टर की संदेहास्पद मौत अत्यन्त संवेदनहीन है।

राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था की भी ली जानकारी
राज्यपाल ने प्रधान सचिव से मुलाकात के दौरान राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था की भी जानकारी प्राप्त की। इस दौरान राज्यपाल ने कहा कि अब बहुत से लोगों में भ्रम की स्थिति है कि कोरोना समाप्त हो गया है और यह भ्रम की स्थिति हमारे राज्य में भी फैल गई है। जबकि हर दिन हजारों लोग संक्रमित हो रहे हैं, लोगों की जान भी जा रही है। विडम्बना है कि बहुत से लोग मास्क का उपयोग नहीं कर रहे हैं, सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि हमें नागरिकों को समझाना होगा कि जब तक कोरोना की दवाई या फिर वैक्सीन नहीं निकल जाती तब तक परहेज ही इसका उपचार है। उन्होंने लोगों को जागरूक करने हेतु औऱ प्रयास करने की बात कही।

14 दिन पहले मृत मिले थे डॉक्टर विजय कृष्ण श्रीवास्तव
बता दें कि 14 दिन पहले गोड्डा जिले में डीएमएफटी योजना के तहत पोड़ैयाहाट के देवदांड़ स्वास्थ्य केन्द्र में बहाल डॉक्टर विजय कृष्ण श्रीवास्तव का शव उनके कमरे से सड़े-गले हालत में मिला था। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर प्रदीप सिन्हा का कहना था कि शव को देखने से पता चलता है कि इसकी मौत चार से पांच दिन पहले हुई है। मृतक डॉक्टर की पत्नी सुजाता विजय श्रीवास्तव का आरोप था कि मेरे पति को छह माह से वेतन नहीं मिला था। सिविल सर्जन से लेकर सबके पास उन्होंने फरियाद की लेकिन किसी ने कोई सहायता नहीं की। हमारे सामने भुखमरी की स्थिति आ गई थी। छोटे बच्चों को दूध पिलाने का पैसा नहीं था। आर्थिक तंगी ने पारिवारिक कलह को भी पैदा कर दिया। इसका परिणाम यह हुआ कि मेरे पति की मौत हो गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें