साहिबगंज में डायन-बिसाही के संदेह में हमला:रामपुर टोपरा में दबंगों ने दंपती को पीटा, 4 दिनों से बाद बिगड़ी तबीयत,पति की मौत

साहिबगंज6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित परिवार को सांत्वना देने - Dainik Bhaskar
पीड़ित परिवार को सांत्वना देने

झारखंड के साहिबगंज में डायन-बिसाही के संदेह में गांव के दबंगों की ओर से दंपती को प्रताड़ित करने का मामला सामने आया है। पति-पत्नी के साथ जमकर मारपीट की गई। परिवार न्याय के लिए चार दिनों तक थाने के चक्कर लगाता रहा। कोई कार्रवाई नहीं हुई। रविवार की शाम पति की हालत अचानक बिगड़ गई। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पत्नी की स्थित गंभीर बनी हुई है। मामला मुफस्सिल थाना क्षेत्र अंतर्गत रामपुर टोपरा गांव का है। मरने वाले व्यक्ति का नाम भीम नारायण सिंह 65 वर्ष बताया जा रहा है। वहीं इलाजरत महिला का नाम इंद्रावती देवी है। मारपीट का आरोप गांव के मुखिया पर लगा है।

साहिबगंज SP अनुरंजन किस्पोट्‌टा ने दावा किया कि इस मामले में दोनों पक्षों की ओर से शिकायत की गई थी। पुलिस इसकी जांच कर रही थी। इसी दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई। मरने वाले व्यक्ति के बेटे राम नारायण सिंह ने बताया कि गत 2 दिसंबर की शाम करीब 6:00 बजे पिता भीम नारायण व माता इंद्रावती देवी साहिबगंज अपने घर आ रहे थे। वह लोग जैसे ही रामपुर टोपरा पहुंचे। वहां पहले से मौजूद मंजू देवी पति महेश सिंह, ब्रह्मदेव सिंह, रवि सिंह व चंदेश्वर सिंह ने उन पर हमला कर दिया। उनके मां बाप पर डायन-बिसाही व प्रेतात्मा होने का आरोप लगाते हुए पीटा गया।

इसमें वह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। दंपती किसी तरह वहां से बचकर निकले। मामले की शिकायत मुफस्सिल थाने में की गई। इसके बावजूद आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। परिवार 4 दिनों तक न्याय के लिए चक्कर लगता रहा। पुलिस ने मामले में सुनवाई के लिए मां-बाप को रविवार को थाने बुलाया। दोनों थाने गए। इसी दौरान पिता की तबीयत खराब हुई। उन्हें पेट में बहुत तेज दर्द महसूस हुआ। आनन-फानन में लोगों ने उन्हें सदर अस्पताल पहुंचाया। इलाज के दौरान पिता ने दम तोड़ दिया। मां का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। घटना के बाद परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। परिवार ने आरोप लगाया है कि घटना की सूचना मुफस्सिल थाना को देने के बाद भी किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई। पुलिस ने इस मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद कुछ बता पाने का दावा कर रही है।

पुलिस मान रही आपसी विवाद
पुलिस इस पूरे मामले को आपसी विवाद मान रही है। पुलिस की ओर से बताया गया कि मारपीट के इस मामले में दूसरे पक्ष की ओर से भी लिखित शिकायत की गई थी। लिहाजा दोनों पक्षों की शिकायत के जांच के आधार पर ही वह आगे की कार्रवाई करने की तैयारी कर रही थी।

खबरें और भी हैं...