KU ने भेजा पत्र:विश्वविद्यालय के हिंदी व होम साइंड डिपार्टमेंट में दो प्रोफेसरों की नियुक्ति का रास्ता साफ, खाली पड़े थे सभी पद, JPSC से हुआ है चयन

जमशेदपुर(पूर्वी सिंहभूम)7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोल्हान विश्वविद्यालय। - Dainik Bhaskar
कोल्हान विश्वविद्यालय।

झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम के चाईबासा में स्थित कोल्हान विश्वविद्यालय (KU) में दो प्रोफेसरों की नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है। वर्तमान में विश्वविद्यालय में कोई प्रोफेसर नहीं है। विश्वविद्यालय के PG डिपार्टमेंट से लेकर कॉलेजों तक में पठन-पाठन का पूरा कार्य असिस्टेंट प्रोफेसर से लेकर एसोसिएट प्रोफेसर तक कर रहे हैं। विश्वविद्यालय की ओर से अलग-अलग विभागों में प्रोफेसर के रिक्त पड़े 22 पदों पर नियुक्ति की अधियाचना JPSC को भेजी गई थी। साक्षात्कार के आधार पर विश्वविद्यालय के हिंदी व होम साइंड डिपार्टमेंट के लिए दो प्रोफेसरों का चयन हुआ। इसमें हिन्दी के लिए डां. मुदिता चंद्र तथा होम साइंस के लिए डा. आशा कुमारी का चयन हुआ। विश्वविद्यालय की सिंडिकेट ने इन दोनों के चयन पर अपनी मुहर लगा दी है।

डा. मुदिता चंद्रा एबीएम कॉलेज की प्राचार्य, डा. आशा कुमारी रांची विश्वविद्यालय में
विश्वविद्यालय की ओर से जिन दो उम्मीदवारों को नियुक्ति पत्र भेजा गया है। उसमें हिंदी विभाग में नियुक्त होने जा रहीं डा. मुदिता चंद्रा वर्तमान में जमशेदपुर स्थित एबीएम कॉलेज की प्राचार्य हैं। कुछ समय पहले ही JPSC से उनका चयन प्राचार्य के पद पर हुआ था। वहीं गृह विज्ञान विभाग के लिए चयनीत डा. आशा कुमारी वर्तमान में रांची विश्वविद्यालय में पदस्थापित हैं। विश्वविद्यालय की तरफ से इन दोनों लोगों को योगदान करने के लिएए नियुक्ति पत्र भेज दिया गया है।

NAAC के लिए पीजी विभाग में प्रोफेसर अनिवार्य
कोल्हान विश्वविद्यालय प्रशासन अगले वर्ष 2022 में होने वाले NAAC के मूल्यांकन की तैयारियों में जुटा है। ऐसे में NAAC में अच्छे ग्रेड के लिए विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर विभाग में प्रोफेसर अनिवार्य है। विश्वविद्यालय की कोशिश है कि जल्द से जल्द दोनों का योगदान करा दिया जाए। पिछली बार प्रोफेसर नहीं होने के कारण विश्वविद्यालय की ग्रेडिंग पर इसका प्रतिकूल असर पड़ा था।

विश्वविद्यालय ने की पुष्टि
विश्वविद्यालय की तरफ से जनसंपर्क पदाधिकारी डा. पीके पाणि ने नियुक्ति पत्र भेजे जाने की पुष्टि की। कहा कि सिंडिकेट की अनुशंसा के आधार पर पत्र भेज दिया गया है।

खबरें और भी हैं...