CRPF ने रोकी बड़ी वारदात:झारखंड-ओड़िशा सीमा से लगे सारंडा इलाके के केबलांग में नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान में 3 लैंड माइन बरामद

राउरकेला/ चाईबासा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जमीन के अंदर लगाया गया बम। - Dainik Bhaskar
जमीन के अंदर लगाया गया बम।

झारखंड व ओड़िशा में सक्रिया प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के खिलाफ सर्च अभियान चला रहे केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल(CRPF) को बड़ी कामयाबी मिली है। दोनों राज्यों की सीमा से लगे ओड़िशा के सुंदरगढृ जिले के सारंडा इलाके के केबलांग थानाक्षेत्र में चलाए जा रहे अभियान के दौरान सुरक्षा बलों को 3 लैंड माइन मिले हैं। इसका वजन 2 किलो ग्राम, 12 किलो ग्राम तथा 15 किलो ग्राम था। इन विस्फोटक का नष्ट कर दिया गया है।

CRPF 19 वीं बटालियन के कमांडेंट राजेश कुमार के बताया कि यह सर्च अभियान टोपाडीह, रेंजड़ा, स्वयंबा के इलाके में चलाए जा रहे थे। इस दौरान पता चला कि नक्सलियों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए जगह-जगह लैंड माइन लगाया हुआ है। इस अभियान में सुरक्षा बलों की ओर से खोजी कुत्तों की मदद ली गई। आसपास लगे सभी लैंड माइन को जमीन से निकाल लिया गया। सुरक्षा बलों को किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचा है।

सारंडा के अंतर्गत आने वाले इस जंगली इलाके में वर्तमान में नक्सली नेता अनमोल उर्फ समर का दस्ता निरंतर सक्रिय रहता है। नक्सलियों की गतिविधियों को नियंत्रित करने के लिए CRPF की टीम ओडिशा पुलिस के साथ मिलकर सर्च ऑपरेशन चला रही थी। इसी दौरान नक्सलियों द्वारा लगाए गए लैंड माइन का पता चला। जिसे बम निरोधक दस्ता ने सावधानी पूर्वक निकाल जंगल में ही नष्ट कर दिया। इस शक्तिशाली लैंड माइन से नक्सली सुरक्षा बलों को भारी नुकसान पहुंचा सकते थे।

सीमावर्ती इलाके में लैंड माइन बरामद होने की सूचना के संबंध में पूछे जाने पर पश्चिमी सिंहभूम के पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा ने कहा कि अब तक इसकी आधिकारिक जानकारी उन्हें प्राप्त नहीं हुई है। झारखंड पुलिस लंबे समय से इस पूरे क्षेत्र को नक्सलियों से मुक्त करने के लिए CRPF और ओड़िशा पुलिस के साथ मिलकर काम कर रही है।

खबरें और भी हैं...