गुमला में सामूहिक दुष्कर्म के 5 आरोपी गिरफ्तार:मेला देखकर लौट रही नाबालिग छात्रा के साथ जबरन बनाया संबंध, 12 घंटे में हत्थे चढ़े

गुमलाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पकड़े गए अपराधी। - Dainik Bhaskar
पकड़े गए अपराधी।

गुमला जिले के सिसई प्रखंड अंतर्गत पुसो थाना क्षेत्र में नाबालिग लड़की से सामूहिक दुष्कर्म करने के आरोप में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। पीड़ित कक्षा 9 वीं की छात्रा है। घटना 2 जनवरी की है। 3 जनवरी को पीड़िता अपने परिजनों साथ थाने पहुंची। युवकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 12 घंटे के अंदर कांड में शामिल सभी अपराधियों को पकड़ लिया।

घटना के संबंध में लड़की ने पुलिस को बताया कि वह सहेलियों के साथ घाघरा थाना क्षेत्र के खपेया गांव में जतरा मेला देखने गई थी। लौटने के दौरान रात्रि करीब 7 बजे वह पत्रा रूढ़ी गढ़ा के पास पहुंची। इसी दौरान पीछे से आए 5 युवकों ने उस पर हमला कर दिया। दूसरी लड़कियां मौके से भाग गईं। वह अकेली फंस गई। अपराधियों ने सिर के पीछे पर उसका बाल पकड़ लिया। इसके बाद उसे झाड़ी की ओर ले गए। मुंह को कपड़े से दबाकर बंद कर रखा था। इसके बाद सभी पांचों युवकों ने उसके साथ बारी बारी से दुष्कर्म किया। कुछ ग्रामीणों को अपनी ओर आते देख आरोपी पीड़िता को मौके पर छोड़कर भाग खड़े हुए। इसके बाद ग्रामीणों ने पीड़िता को घर भेज दिया। रात करीब 8:30 बजे पीड़िता रोते बिलखते घर पहुंची। घटना की जानकारी परिजनों को दी। घटना के दूसरे दिन 3 जनवरी को पीड़िता की मां ने पुसो थाना में 5 लोगों के खिलाफ दुष्कर्म की प्राथमिकी दर्ज कराई। पीड़िता द्वारा दुष्कर्म के सभी आरोपियों को देखकर पहचान लिए जाने की बात कही।इसके बाद पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी में जुट गई।
मामला संज्ञान में आने के साथ ही पुलिस ने जांच शुरू कर दी। सही सूचना के आधार पर एक-एक कर सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के बाद सभी ने घटना में अपनी संलिप्ता स्वीकार की है। इन लोगों ने पूछताछ में बताया कि वे सभी मेले से ही युवतियों का पीछा कर रहे थे। पीछा करते करते कोयल नदी स्थित पतरा रूसी गढ़ा के समीप इन पर हमला कर दिया। दूसरी लड़कियां भाग गई। पीड़िया इनके चंगुल में फंस गई। कुछ देर बाद उसी रास्ते से जतरा मेला देखकर लौट रहे कोचा गांव के ग्रामीणों को लड़की की सहेलियों ने घटना की जानकारी दे दी। ग्रामीणों को पतरा की ओर आते देख सभी वहां से फरार हुए।
इनकी हुई है गिरफ्तारी
पकड़े गए आरोपियों में घाघरा पहनटोली गांव निवासी 19 वर्षीय विकास उरांव, करमचंद उरांव व प्रकाश उराँव के अलावा सिसई डिपाटोली गांव निवासी 18 वर्षीय अनिल एवं दार्री अम्बा टोली निवासी एक नाबालिग शामिल है। सभी को पूछताछ के बाद मंगलवार को जेल भेज दिया गया। पूरे घटनाक्रम को लेकर SDPO मनीष चन्द्र लाल, इंस्पेक्टर बिनोद कुमार यादव एवं थाना प्रभारी मिचराय पांड्या ने संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

खबरें और भी हैं...