उग्रवाद पर लगाम:गढ़वा में TSPC के नाम पर मुखिया के पति से मांगी जा रही थी लेवी, पुलिस ने चार अपराधियों को किया गिरफ्तार

गढ़वा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उग्रवादियों की  गिरफ्तारी के बारे में जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी। - Dainik Bhaskar
उग्रवादियों की गिरफ्तारी के बारे में जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारी।

झारखंड के अलग-अलग जिलों में सक्रिय नक्सली व उग्रवादी संगठनों पर सुरक्षा बलों की नकेल कस रही है। गढ़वा जिले बड़गड़ प्रखंड के टेहरी पंचायत की मुखिया के पति से प्रतिबंधित संगठन TSPC के नाम पर लेवी की मांग की गई थी। SP अंजनी कुमार झा को मिली सूचना के आधार पर पुलिस ने इन मामले में TSPC के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है।

गिरफ्तार अपराधियों में जितेंद्र यादव पिता मोहन यादव परसवार, आजाद अंसारी पिता शौकत अंसारी, अनिल यादव पिता नन्हक यादव, माधवखांड, रामगढ़ पलामू तथा माधव पनिका पिता प्रभु पनिका, बरकोल भंडरिया का नाम शामिल है। तलाशी के दौरान इनके पास से छह राउंड का एक देशी रिवाल्वर, एक दो नाली देशी रिवाल्वर, एक देशी रिवाल्वर, दो कारतूस, दो मोबाइल बरामद किया गया है।

मंगलवार को भंडरिया थाना में आयोजित पत्रकारवार्ता के दौरान SDPO सुदर्शन कुमार आस्तिक एवं भंडरिया के इंस्पेक्टर लक्ष्मीकांत ने बताया कि एसपी अंजनी कुमार झा के समक्ष टेहरी पंचायत की मुखिया प्रभा कुजूर के पति सियोन बाखला द्वारा शिकायत की गई थी। इसमें कहा गया था कि कुछ लोग TSPC के नाम उनसे लेवी की मांग कर रहे हैं। मांग पूरी नहीं करने पर अंजाम भुगतने की धमकी दे रहे हैं। धमकी से पूरा परिवार दहशत में है।

SP ने गठित की थी टीम
सूचना के आलोक में SP ने रंका के SDPO सुदर्शन कुमार आस्तिक के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। इसमें भंडरिया थाना प्रभारी लक्ष्मीकांत, बड़गड़ OP प्रभारी पुअनि कुंदन कुमार सिंह, मदगड़ OP प्रभारी चंद्रदेव कुमार सहित सशस्त्र बल के जवान शामिल थे। टीम ने छापेमारी कर इन्हें गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पता चला कि ये सभी अपराधी TSPC अथवा TPC उग्रवादी संगठन के नाम पर फोन से लेवी मांगने, अलग-अलग जगहों पर पर्चा साटने सहित कई आपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहे थे।

पुलिस ने पहले परसवार गांव से जितेंद्र यादव एवं आजाद अंसारी को हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया। जितेंद्र यादव की निशानदेही पर सहयोगी रहे बरकोल गांव का माधव पनिका तथा पलामू के रामगढ़ थाना क्षेत्र के माधवखाड़ गांव निवासी अनिल यादव को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों से लेवी मांगने में इस्तेमाल मोबाइल भी बरामद किया गया।

इन मामलों में रही है संलिप्तता
गिरफ्तार चारों अपराधियों ने बड़गड़ के परसवार गांव में मार्च माह में चोरी, बाडी़ खजुरी गांव में ग्राहक सेवा केंद्र में लूट करने सहित अन्य कई घटनाओं में अपनी संलिप्तता को स्वीकार की है।

खबरें और भी हैं...