नक्सलियों का भारत बंद आज रात 12 बजे तक:धनबाद,चक्रधरपुर मंडल में ट्रैक पर ब्लास्ट, गोइलकेरा में पुलिया उड़ाया, खूंटी में लगाया बैनर, पोस्टर

लातेहार/ सोनुआ(चाईबासा)2 महीने पहले
घटना के बाद मौके पर पहुंचे रेलवे के अधिकारी व कर्मचारी।

नक्सलियों का भारत बंद शनिवार रात बारह बजे तक लागू रहेगा। शुक्रवार देर रात नक्सलियों ने झारखंड के अलग-अगल जिलों में जमकर उत्पात मचाया। अब तक की सूचना के अनुसार, धनबाद और चक्रधरपुर रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले रेलवे ट्रैक को निशाना बनाया गया। रेलवे ट्रैक पर ब्लास्ट कर पटरियों को क्षतिग्रस्त कर दिया है। इस कारण दोनों रेल मंडल की 24 से अधिक ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है। पश्चिमी सिंहभूम के गोइलकेरा-चाईबासा मार्ग पर पालूहासा व कुईड़ा गांव के पास मुख्य सड़क पर बनी पुलिया को बम लगाकर उड़ा दिया गया। घटनास्थल पर नक्सलियाें ने लाल रंग का बैनर भी लगाया। इसके नीचे बम लगा हुआ था। शनिवार देर शाम तक घटनास्थल पर पुलिस नहीं पहुंची थी।खूंटी जिले के रनिया में पोस्टर, बैनर लगाया गया है।

नक्सलियों ने धनबाद के रिचुछुटा-डेमू स्टेशनों के बीच 206/26-29 अप और डाउन लाइन पर बम ब्लास्ट कर रेल पटरियों को उड़ा दिया है। यह घटना शुक्रवार रात करीब 1:50 बजे की है। इसमें डीजल लाइट इंजन संख्या 70584 की एक ट्रॉली डिरेल हो गई है। साथ ही, अप और डाउन मार्ग पूरी तरह से बाधित हो गया है। करीब एक दर्जन सवारी और माल गाड़ियों का परिचालन ढप हो गया है। घटना की सूचना के बाद DRM आशीष बंसल समेत धनबाद रेल मंडल के कई वरीय अधिकारी स्पेशल ट्रेन से घटनास्थल पर पहुंचे हैं। रेल पटरी को ठीक कराया जा रहा है। मौके पर नक्सलियों ने पर्चे भी फेंके हैं।

बता दें, नक्सली संगठन अपने शीर्ष नेता प्रशांत बोस उर्फ किशन दा उर्फ बुढ़ा और उसकी पत्नी शीला मरांडी की 12 नवंबर को हुई गिरफ्तारी के विरोध में बंद कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने 15 नवंबर से 19 नवंबर तक प्रतिरोध दिवस मनाया था।

कुछ ट्रेनों को किया गया रद्द

रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार, 18102 डाउन टाटा-जम्मूतवी एक्सप्रेस को वाया डेहरी ऑन सोन के लिए रवाना किया गया है। जबकि, 13348 डाउन पटना-बरकाकाना पलामू एक्सप्रेस को गढ़वा रोड स्टेशन पर रोक दिया गया है। वहीं, बरवाडीह-गोमो डाउन पैसेंजर, अप बरकाकाना-वाराणसी BDM पैसेंजर और अप बरकाकाना-डेहरी ऑन सोन बीडी पैसेंजर को रद्द कर दिया गया है।

नक्सलियों ने रेलवे ट्रैक को किया क्षतिग्रस्त।
नक्सलियों ने रेलवे ट्रैक को किया क्षतिग्रस्त।

हावड़ा- मुंबई रेल मार्ग हुआ बाधित

कोल्हान प्रमंडल के अंतर्गत आने वाले पश्चिमी सिंहभूम जिले में चक्रधरपुर और सोनुआ स्टेशन के बीच लोटापहाड़ रेलवे स्टेशन के पास भी रेलवे ट्रैक पर ब्लास्ट कर रेल पटरियों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। माना जा रहा है कि प्रमंडल में अपनी मौजूदगी का अहसास कराने के लिए इस वारदात को अंजाम दिया गया है। ब्लास्ट में अप और डाउन दोनों रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गए हैं। नक्सलियों की इस कार्रवाई में ट्रैक के कई स्लीपर को नुकसान पहुंचा है। रेल पटरी टेढ़ी हो गई है।

बताया जा रहा है कि ब्लास्ट इतना जोरदार था कि रेलवे पटरी के नीचे एक से डेढ़ फीट तक गड्ढा हो गया है। ट्रैक क्षतिग्रस्त होने के कारण देर रात से ही हावड़ा-मुम्बई रेलमार्ग पर ट्रेनों का परिचालन ठप हो गया है। फिलहाल चक्रधरपुर, सोनुआ, राजखरसावां आदि स्टेशनों में कई मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों को रोक दिया गया है। घटनास्थल पर रेलवे सुरक्षा बल, जिला पुलिस और CRPF के अधिकारी पहुंच चुके हैं। रेलकर्मी दोनों रेलवे ट्रैक को दुरुस्त करने का काम कर रहे हैं।

सीआरपीएफ कैंप से 200 मीटर की दूरी पर लगाया बैनर

नक्सलियों ने खूंटी जिले के रनिया इलाके में पोस्टर व बैनर लगाया। रनिया ब्लाक चौक के पास पोस्टर चिपकाया गया। वहीं सीआरपीएफ कैंप से करीब 200 मीटर की दूरी पर बैनर बांधकर भारत बंद की जानकारी दी। यह पोस्टर भाकपा माओवादी पूर्वी रीजनल ब्यूरो की ओर से लगाया गया था। जानकारी मिलने के बाद पुलिस प्रशासन ने दोनों ही स्थानों से बैनर व पोस्टर हटाए।

खबरें और भी हैं...