झारखंड-बिहार में नक्सली बंद आज:गिरिडीह में नक्सलियों ने ट्रैक उड़ाया, अलग-अलग स्टेशनों पर 3 घंटे फंसी ट्रेनें, चतरा में सड़कों पर सन्नाटा

गिरिडीह5 महीने पहले
जानकारी मिलने के बाद रेलवे पटरी पर पहुंचे पुलिस के जवान व रेल कर्मचारी

लोगों के बीच अपना खौफ फैलाने के लिए भाकपा माओवादियों ने गुरुवार को झारखंड-बिहार बंद का आह्वान किया है। इसके तहत गिरिडीह में धनबाद-गया रेलखंड के अंतर्गत सरिया थाना क्षेत्र के चिचाकी और चौधरीबांध के बीच में नई दिल्ली- हावड़ा रेल लाईन के अप और डाउन ट्रैक को विस्फोट से उड़ा दिया। इससे इन रूटों पर ट्रेनों का परिचालन बाधित हो गया। घंटों मशक्कत के बाद ट्रेनों का आवागमन सामान्य हो सका। वहीं, चतरा में नक्सलियों के खौफ के कारण सड़क मार्ग प्रभावित है।

बताया जाता है कि गिरिडीह में रात लगभग 12:15 बजे नक्सलियों का दस्ता पहुंचा। रेल पटरी पर पोल संख्या 334/13 और 14 के बीच विस्फोट कर ट्रैक को उड़ा दिया। इस दौरान मौके पर प्रतिरोध दिवस और बंदी का पर्चा भी छोड़ा गया। गुरुवार सुबह घटना की सूचना पर सरिया-बगोदर और अन्य जिले की पुलिस मौके पर पहुंची है। इसके बाद रेलवे कर्मचारियों ने ट्रैक की मरम्मत कर ट्रेनों का परिचालन शुरू कराया।

इन ट्रेनों का संचालन प्रभावित

घटना के कारण इस रूट से होकर गुजरने वाली ट्रेनों का परिचालन बाधित हुआ। गंगा-दामोदर एक्सप्रेस चौधरी बांध स्टेशन पर, जोधपुर-हावडा एक्सप्रेस हजारीबाग रोड स्टेशन पर, हटिया इस्लामबाद एक्सप्रेस पारसनाथ स्टेशन पर तथा हावडा मुम्बई मेल, लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस समेत कई अन्य ट्रेन विभिन्न स्टेशनों पर करीब 3 घंटे रूकी रहीं। घटना के बाद आसपास के इलाके में पुलिस और CRPF ने सर्च अभियान चलाया।

नक्सलियों की ओर से भेजा गया पर्चा
नक्सलियों की ओर से भेजा गया पर्चा

प्रशांत-शीला की रिहाई मांग रहे हैं नक्सली

नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के टॉप लीडर प्रशांत बोस और उनकी पत्नी शीला की गिरफ्तारी के बाद से ही नक्सली संगठन गुस्से में हैं।.नक्सली संगठन द्वारा इनकी गिरफ्तारी के बाद दो बार बंद का आह्वान किया जा चुका है। संगठन दोनों की रिहाई और बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने की मांग कर रहा है। संगठन ने बंद से पहले गत 21 जनवरी से 26 जनवरी तक प्रतिरोध दिवस मनाया। इस दौरान पुल, मोबाइल टॉवर को क्षतिग्रस्त करने के साथ गणतंत्र दिवस पर कई जगहों पर काले झंडे फहराए गए।

सड़क पर पसरा सन्नाटा
सड़क पर पसरा सन्नाटा

चतरा में परिवहन प्रभावित

चतरा जिले में भाकपा माओवादियों के बंदी का व्यापक असर है। यातायात व्यवस्था पूरी तरह से प्रभावित है। माल वाहक और यात्री वाहनों का परिचालन नहीं हो रहा है। सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। जिला मुख्यालय से रांची, हजारीबाग, गया, कोडरमा, चौपारण एवं अन्य दूसरी जगहों के लिए चलने वाली यात्री बसों के पहियों पर ब्रेक लगा हुआ है। बस एवं टैक्सी स्टैंडों में यात्री परेशान हैं।

इनपुट : गिरिडीह से परमानंद बर्णवाल

नक्सली बंद को लेकर हाई अलर्ट:झारखंड के अलग-अलग जिलों में चल रहा सर्च ऑपरेशन, कई जगहों पर बस व ट्रकों के पहिये थमे

खबरें और भी हैं...