पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आपदा को अवसर बनाने के चक्कर में एक गिरफ्तार:मरीज के परिजन बन प्रशासनिक अधिकारी पहुंचे ऑक्सीजन सिलेंडर लेने, आरोपी 25 हजार रुपए में देने को हुआ तैयार; गिरफ्तार

​​​​​​​चतराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्तार सतीश सिंह (पीले रंग के मास्क में) से पूछताछ कर रही है। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्तार सतीश सिंह (पीले रंग के मास्क में) से पूछताछ कर रही है।

कोरोना महामारी जैसी आपदा को भी कमाई का अवसर मान संक्रमित मरीजों व इनके परिजनों को ब्लैक में ऑक्सीजन सिलेंडर बेचने वाले एक गिरोह का शुक्रवार को पर्दाफाश किया गया। एसडीओ मुमताज अंसारी व सदर थाना प्रभारी लव कुमार ने नाटकीय ढंग से ग्राहक बन कर ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने वाले एक माफिया को गिरफ्तार किया। आरोपी 25 हजार रुपए में एक ऑक्सीजन सिलेंडर बेच रहा था। इसके पास से 25 ऑक्सीजन से भरा हुआ और 11 खाली सिलेंडर बरामद किया गया।

गिरफ्तार आरोपी सतीश कुमार सिंह कोडरमा जिले के तिलैया थाना क्षेत्र के असनाबाद का रहने वाला है। एसडीपीओ अविनाश कुमार ने बताया कि पुलिस प्रशासन को सूचना मिली थी कि शहर के नंगवा मोहल्ला में समाहरणालय के आसपास एक घर को किराए पर लेकर ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने वाला एक गैंग सक्रिय है। कोरोना मरीजों के परिजनों को 25-25 हजार रुपए तक में माफियाओं द्वारा ऑक्सीजन सिलेंडर बेचा जा रहा है।

इस सूचना के आधार पर एसडीओ मुमताज अंसारी व उनके नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। इसके बाद अंचल अधिकारी भगीरथ महतो, सदर थाना प्रभारी लव कुमार व एसआई शशि ठाकुर ग्राहक बन कर उस घर में पहुंचे। यहां सतीश कुमार सिंह ने पहले तो ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी का हवाला देते हुए उपलब्ध नहीं होने की बात कही। इसके बाद पदाधिकारियों को बाजार से कई गुणा अधिक मूल्य पर ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराने को तैयार हो गया। इसके बाद सतीश सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया।

टीम ने घर की तलाशी ली तो वहां 25 भरा व 11 खाली ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद किया गया। पुलिस गिरफ्तार सतीश सिंह से पूछताछ कर रही है। एसडीपीओ अविनाश कुमार ने बताया कि पूछताछ के आधार पर इस रैकेट में शामिल अन्य तस्करों की पहचान की जा रही है। पुलिस रैकेट में शामिल सभी तस्करों की गिरफ्तारी में जुटी है।

खबरें और भी हैं...