लातेहार में पशु तस्करी रैकेट का खुलासा:छत्तीसगढ़ से ट्रकों पर लोड कर बिहार भेजे जा रहे थे जानवर, 2 गिरफ्तार

लातेहार6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने पशुओं को किया बरामद - Dainik Bhaskar
पुलिस ने पशुओं को किया बरामद

झारखंड के लातेहार में पुलिस ने पशु तस्करी के बड़े रैकेट का खुलासा किया है। इस मामले में 2 लोगों को गिरफ्तार करने के साथ ही जानवरों से भरे 1 ट्रक को जब्त किया गया है। पशुओं की तस्करी करने के आरोप में लोहरदगा निवासी टिंकू खान व आरिफ पर प्राथमिक दर्ज करते हुए आगे की कार्रवाई की जा रही है। जांच में पता चलाा है कि इन सभी पालतू जानवरों को छत्तीसगढ़ के जशपुर से बिहार के डेहरी ऑन सोन भेजा जा था।

अवैध पशु तस्करी के आरोप में जब्त वाहन।
अवैध पशु तस्करी के आरोप में जब्त वाहन।

सोमवार की सुबह लगभग साढ़े तीन बजे बरवाडीह थाना प्रभारी श्रीनिवास कुमार सिंह ने अपने सदलबल के साथ कुटमु में छापा मारा। यहां से जानवरों से लदे 1 ट्रक को जब्त किया गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि ट्रक में अवैध तरीके जानवर का तस्करी की जा रहा है। इसके आधार पर छापेमारी की गई। इसमें उत्तर प्रदेश के नंबर प्लेट वाले 1 ट्रक को जब्त किया गया। छापेमारी के दौरान वाहन चालक से कागजात की मांग की गई। उसके पास कोई भी कागजात नहीं थे। इसके बाद ट्रक, ट्रक चालक व खलासी को थाने लाया गया।

जांच कर इस मामले में प्राथमिक दर्ज की गई। चालक सुनील कुमार व खलासी नईम अंसारी को जेल भेज दिया गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि ट्रक में कुल 30 भैंसें लोड थी। पूछताछ में पता चला कि पशु तस्करी के इस रैकेट के तार लोहरदगा निवासी टिंकू खान व आरिफ से जुड़े हुए हैं। लिहाजा इन दोनों के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया। जांच में यह बात भी सामने आई कि झारखंड के रास्ते छत्तीसगढ़ से जानवरों को बिहार भेजने का धंधा काफी समय से चल रहा है।

बरामद किए गए जानवरों को रख-रखाव के लिए भेजा
छापेमारी के दौरान पकड़े गए सभी जानवरों को रख-रखाव के लिए 8 लोगों के जिम्मे दिया गया है। सभी लोग इन भैंसों की ठीक से देखभाल कर रहे है। यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि यह सभी जानवर छत्तीसगढ़ से किस प्रकार एकत्र कर लाए जा रहे थे।