राहुल बोले, नागपुर से देश चलाना चाहती है भाजपा:पार्टी के चिंतन शिविर को ऑनलाइन किया संबोधित, कहा- कांग्रेस की विचारधारा झारखंड के DNA में

गिरिडीहएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम को ऑनलाइन संबोधित करते राहुल गांधी। - Dainik Bhaskar
कार्यक्रम को ऑनलाइन संबोधित करते राहुल गांधी।

कांग्रेस पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी नागपुर से देश चलाना चाहती है। वह हर राज्य में RSS की विचारधारा को बढ़ावा देना चाहती है। झारखंड के DNA में कांग्रेस है। भाजपा इसे बर्बाद करने में लगी हुई। हम सबको मिलकर इसे बचाना होगा। राहुल गांधी मंगलवार को गिरिडीह के जैन तीर्थस्थल मधुबन के तलहटी में चल रहे कांग्रेस पार्टी के प्रदेश इकाई के चिंतन शिविर के अंतिम सत्र को ऑनलाइन संबोधित कर रहे थे। इस दौरान पार्टी ने आने वाले लोकसभा, विधानसभा चुनाव के साथ-साथ पंचायत इलेक्शन में बेहतर प्रदर्शन का संकल्प लिया।

अपने करीब 12 मिनट के संबोधन में राहुल गांधी भाजपा पर हमलावर रहे। कहा कि भाजपा मुस्लिमों के साथ गरीब आदिवासी को डराने-धमकाने का काम कर रही है। कांग्रेस को इसके खिलाफ पूरी मजबूती से खड़ा होना होगा। उन्होंने कहा कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है। इस लोकतांत्रिक देश में कई छोटे-बड़े राज्य समावेशित हैं। जिस प्रकार गुलदस्ते में कई सुंदर फूल रहते हैं वैसे ही हमारा देश अलग-अलग फूलों का गुलदस्ता है। भाजपा और इसकी विचारधारा इसे खत्म करना चाहती है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की यह सोच है कि राज्य में हर जाति और हर धर्म के लोग अपनी मान्यताओं और परम्पराओं के अनुसार जीवनयापन करें। किसी पर किसी की विचारधारा को थोपा नहीं जाना चाहिए। कांग्रेस हर राज्य और नागरिक का सम्मान और अधिकार सुरक्षित रखना चाहती है। भाजपा की सोच है कि झारखंड में कांग्रेस कमजोर है, जबकि सच्चाई यह है कि झारखंड और कांग्रेस की विचारधारा एक समान है।

शिविर में मौजूद पार्टी के प्रतिनिधि।
शिविर में मौजूद पार्टी के प्रतिनिधि।

उन्होंने कहा कि पार्टी गरीबों, दलितों के साथ छोटे कारोबारियों के लिए काम कर रही है। वहीं भाजपा सरकार कुछ अमीरों को फायदा पहुंचाने में लगी है। चिंतन शिविर के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि प्रभारी अविनाश पांडे और सह प्रभारी उमर सिंगार के साथ-साथ सभी सांसद और विधायकों की जिम्मेदारी जनता को पार्टी के साथ जोड़कर रखने की है। उन्होंने पार्टी नेताओं को भरोसा दिया कि वह जब भी उन्हें झारखंड आने का निमंत्रण देंगे वह जरूर आएंगे।

पार्टी के सह प्रभारी उमर सिंगार ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि इस चिंतन शिविर में 147 प्रतिनिधि शामिल हुए। इस चिंतन शिविर में राज्य कांग्रेस ने अपने लिए लक्ष्य निर्धारित किया है। आने वाले दिनों में पार्टी इन्हीं लक्ष्यों पर काम करेगी। गत 20 फरवरी से 22 फरवरी तक चले इस शिविर में पार्टी के प्रभारी अविनाश पांडे, प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर, मंत्री बादल पत्रलेख, आलमगीर आलम, बन्ना गुप्ता, अंबा प्रसाद, इरफान अंसारी, सांसद गीता कोड़ा, पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, सुखदेव भगत, प्रदीप बालमुचू,बंधु तिर्की, साहजादा अनवर, दीपिका सिंह,अनूप सिंह समेत कई नेता शामिल रहे।